लाइव टीवी

हिंदू महासभा नेत्री ने गांधीजी की हत्या पर दिया ये सनसनीखेज़ बयान

Sushil Koushik | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 19, 2019, 4:40 PM IST
हिंदू महासभा नेत्री ने गांधीजी की हत्या पर दिया ये सनसनीखेज़ बयान
हिंदू महासभा ने गांधीजी की मौत के लिए तत्कालीन नेहरू सरकार को बताया ज़िम्मेदार.

ग्वालियर (Gwalior) में हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) की राष्ट्रीय अध्यक्ष राजश्री चौधरी ने नाथूराम गोडसे की आरती उतारी.

  • Share this:
ग्वालियर. नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) की पूजा के बाद मचा बवाल अभी थमा भी नहीं था कि हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) की राष्ट्रीय अध्यक्ष राजश्री चौधरी ने महात्मा गांधी की हत्या के लिए तत्कालीन जवाहरलाल नेहरू की सरकार (Jawaharlal Nehru) को जिम्‍मेदार बताकर नए विवाद को जन्म दे दिया है. मंगलवार को राजश्री ग्वालियर दौरे पर पहुंचीं जहां उन्होंने पहले वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई (Rani Laxmi Bai) को श्रद्धांजलि दी. इसके बाद दोपहर में उन्‍होंने हिंदू महासभा कार्यालय पहुंचकर नाथूराम गोडसे की पूजा और आरती की.

'गांधीजी की मौत की जिम्मेदार नेहरू सरकार'
हिंदू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष राजश्री चौधरी ने कहा कि गांधीजी देश के विभाजन के लिए जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा कि वर्ष 1948 में गोली लगने के बाद महात्मा गांधी 40 मिनट तक तड़पते रहे, लेकिन कांग्रेस के लोग उनको अस्पताल लेकर नहीं गए. राजश्री ने आरोप लगाया कि तत्कालीन सरकार ने महात्मा गांधी का पीएम (पोस्‍टमॉर्टम) तक नहीं कराया. इससे मामले की जांच सही तरीके से नहीं हो पाई है, लिहाजा गांधीजी की मौत के लिए तत्कालीन नेहरू सरकार जिम्मेदार है.

गोडसे की उतारी आरती

राजश्री ग्वालियर में हिंदू महासभा की बैठक में शामिल होने आई थीं. सुबह सबसे पहले उन्होंने महारानी लक्ष्मीबाई समाधि पर पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. राज्यश्री के मुताबिक रानी लक्ष्मीबाई उनके लिए आजादी की प्रतीक हैं. दोपहर में राज्यश्री दौलतगंज स्थित हिंदू महासभा कार्यालय पहुंचीं, जहां उन्होंने हिंदू महासभा कार्यकर्ताओं के साथ नाथूराम गोडसे की आरती की.

ये भी पढ़ें -
सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा प्रह्लाद लोधी का केस, बीजेपी-कांग्रेस आमने-सामने
Loading...

कांग्रेस पर मेहरबान कमलनाथ सरकार, पार्टी दफ़्तर के लिए सस्ते में देगी सरकारी ज़मीन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 3:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...