कमलनाथ की कैबिनेट मंत्री चाहती हैं 'महाराज' को सौंपी जाए प्रदेश की कमान
Gwalior News in Hindi

कमलनाथ की कैबिनेट मंत्री चाहती हैं 'महाराज' को सौंपी जाए प्रदेश की कमान
इमरती देवी और ज्योतिरादित्य सिंधिया

गुना-शिवपुरी सीट से ज्योतिरादित्य सिंधिया की हार पर इमरती देवी ने ईवीएम पर उंगली उठायी. उन्होंने कहा कि हार की वजह ईवीएम में गड़बड़ी भी हो सकती है.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की भारी हार से आहत पार्टी नेताओं और मंत्रियों ने प्रदेश नेतृत्व के खिलाफ आवाज़ उठाना शुरू कर दिया है. कमलनाथ कैबिनेट में ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे की मंत्री इमरती देवी ने कहा है कि अब महाराज (ज्योतिरादित्य सिंधिया) को प्रदेश की कमान मिलनी चाहिए.

कैबिनेट मंत्री इमरती देवी ने ग्वालियर में कहा कि अब मध्य प्रदेश की कमान ज्योतिरादित्य सिंधिया को मिलनी चाहिए. उन्होंने कहा मैं पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से भी मांग करूंगी कि महाराज को प्रदेश की कमान सौंपें.

ये भी पढ़ें-सिंधिया के 'मंत्रियों' के इलाके में हारे दिग्विजय के समर्थक



उन्होंने कहा कि हार के बाद मैं महाराज यानि ज्योतिरादित्य सिंधिया से बात करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही हूं. गुना-शिवपुरी सीट से ज्योतिरादित्य सिंधिया की हार पर इमरती देवी ने ईवीएम पर उंगली उठायी. उन्होंने कहा कि हार की वजह ईवीएम में गड़बड़ी भी हो सकती है.
ये भी पढ़ें-कांग्रेस की हार पर अब दिग्विजय सिंह के भाई ने उठायी उंगली

हालांकि इमरती देवी पर खुद आरोप लगा है कि ग्वालियर सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी अशोक सिंह के चुनाव प्रचार में उन्होंने सहयोग नहीं किया. अशोक सिंह दिग्विजय समर्थक हैं और इमरती देवी सिंधिया खेमे की हैं. ग्वालियर में कांग्रेस के 3 मंत्री और चार विधायक प्रतिनिधित्व करते हैं. लेकिन उन सभी के इलाकों में विधानसभा के मुकाबले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को भारी नुकसान हुआ है. इमरती देवी के इलाके में 38 हजार वोट कम मिले हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज