क्या MP में नेतृत्व परिवर्तन होने वाला है? ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिया ये जवाब

ग्वालियर आए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों पर बड़ा बयान दिया है.

ग्वालियर आए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों पर बड़ा बयान दिया है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि मैं एक सौजन्य भेंट कोविड-19 और संगठन के विषय पर चर्चा करने के लिए भोपाल गया था और हमारी प्रदेश के मुख्य शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष और मंत्रियों के साथ के साथ अच्छी लंबी चर्चा हुई है.

  • Share this:

ग्वालियर. दो दिवसीय दौरे पर ग्वालियर आए राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों को लेकर बड़ा बयान दिया है. सिंधिया ने कहा कि प्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने पिछले 16 महीने में बेहतरीन काम किया है, जिसके लिए मैं उनको बधाई ही नहीं दिल से धन्यवाद अर्पित करना चाहता हूं. साथ ही सिंधिया ने कोरोना की तीसरी लहर से निबटने की तैयारियों को लेकर सरकार के साथ सकारात्मक बैठक होने की बात कही है. उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान हैं और उनके नेतृत्व में पिछले 16 महीनों में जिस तरह से इस कठिन परिस्थितियों में सरकार ने इतना बेहतरीन परफॉर्मेंस दिया है. मैं उनको बधाई ही नहीं, धन्यवाद अर्पित करना चाहता हूं, उनके नेतृत्व में इतना अच्छा हो पाया है.

सिधिंया ने कहा, "नेतृत्व परिवर्तन की चर्चाएं कहां से चल रही है, मुझे नहीं मालूम. मैं एक सौजन्य भेंट कोविड-19 और संगठन के विषय पर चर्चा करने के लिए भोपाल गया था और हमारी प्रदेश के मुख्य शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष और मंत्रियों के साथ के साथ अच्छी लंबी चर्चा हुई है.' राज्यसभा सांसद ने कहा कि भोपाल में मेरी बड़ी विस्तृत चर्चा मुख्यमंत्री के साथ हुई है. मैं मध्य प्रदेश सरकार, मंत्रियों, विधायकों, प्रदेश के भाजपा कार्यकर्ताओं और जनता को दिल से धन्यवाद ज्ञापित करना चाहता हूं कि इस विकट परिस्थितियों में उन्होंने जिस तरह के खास सावधानी बरती, वो तरीफेकबिल है.

कोविड के खिलाफ जंग अभी खत्म नही हुई

सिंधिया ने कहा कि हमने अभी दूसरी वेब पर काबू पाया है, लेकिन अभी भी जंग जारी है. यह न समझें कि अभी जंग खत्म हो गई है. हमको लगातार सावधानी बरतनी होगी. अब हम लोगों को तीसरी वेव की तैयारी करना है, इस महामारी का एक ही हाल है, वह हाल है टीकाकरण. मैं सभी से निवेदन करना चाहता हूं कि टीकाकरण का उत्साहवर्धन करें. सभी को टीका लगवाने के लिए ऊर्जा प्रदान करें. टीकाकरण ही एकमात्र अस्त्र और शस्त्र इस वायरस से निपटने के लिए है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज