लाइव टीवी

एक एम्बुलेंस के लिए घंटों जूझे, आखिरकार मायूस परिजन बाइक पर ले गए शव

Sushil Koushik | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 29, 2019, 4:58 PM IST

ग्वालियर जयारोग्य अस्पताल से शर्मसार करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं, जहां एक परिवार अपने मरीज की मौत के बाद शव को एंबुलेंस के अभाव में बाइक पर लादकर ले जाता दिखा.

  • Share this:
मध्यप्रदेश के ग्वालियर जयारोग्य अस्पताल से शर्मसार करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं. यहां एक परिवार अपने मरीज की मौत के बाद शव को एम्बुलेंस के अभाव में बाइक पर लादकर ले जाता दिखा, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आए मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अस्पताल अधीक्षक और संभागीय कमिश्नर को तलब कर रिपोर्ट मांगी है.

एम्बुलेंस के लिए भटकते रहे परिजन
दरअसल छतरपुर निवासी एक युवक की न्यूरोलॉजी में शुक्रवार को दोपहर करीब 12 बजे मौत हो गई. परिजन काफी देर एम्बुलेंस के लिए इधर-उधर भटकते रहे, लेकिन एम्बुलेंस प्वाइंट पर खड़े वाहन चालकों ने शव ले जाने से इंकार कर दिया. जब परिजनों ने बाहर से एम्बुलेंस की व्यवस्था की तो उसे गेट के अंदर ही नहीं आने दिया गया. लड़ाई झगड़े की स्थिति बनने पर परिजनों ने शव को बाइक पर रखा और नाका चंद्रवदनी तक लेकर पहुंचे, जहां पर खड़ी गाड़ी से शव को छतरपुर लेकर रवाना हुए.

मामले पर अस्पताल के अधीक्षक ने दी सफाई

वहीं इस मामले पर जयारोग्य अस्पताल के अधीक्षक का कहना है कि हमने सभी वार्डों के स्टाफ को निर्देश दे दिए हैं कि यदि किसी को भी एम्बुलेंस की जरूरत हो तो हमें सूचना दें. न्यूरोलॉजी में जिस मरीज की मौत हुई थी, इसकी जानकारी जब उन्हें लगी तो सिक्योरिटी इंचार्ज को वार्ड में भेजा गया था, लेकिन तब तक परिजन मरीज के शव को लेकर रवाना हो चुके थे.

प्रद्युम्न सिंह तोमर ने दिए जांच के आदेश
इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आए मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अस्पताल अधीक्षक और संभागीय कमिश्नर को तलब कर रिपोर्ट मांगी है, लेकिन इस दौरान उन्होंने बीजेपी सरकार पर भी जमकर निशाना साधा.
Loading...

यह भी पढ़ें- एंबुलेंस नहीं मिली, मां की लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए बाइक पर ले गया बेटा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 29, 2019, 4:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...