जैन समाज के कार्यक्रम में शामिल हुए सिंधिया, बाढ़ प्रभावितों के लिए केंद्र से मांगी मदद
Gwalior News in Hindi

जैन समाज के कार्यक्रम में शामिल हुए सिंधिया, बाढ़ प्रभावितों के लिए केंद्र से मांगी मदद
ग्वालियर में जैन समाज के कार्यक्रम में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया

पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindhiya) ने केंद्र (Centre) से बाढ़ पीड़ितों (Flood Victims) के लिए 500 करोड़ की मदद मांगी, उन्होंने कहा कि वो राज्य के सभी बाढ़ प्रभावित ज़िलों का दौरा करेंगे.

  • Share this:
ग्वालियर​. इंदौर के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया आज ग्वालियर (Gwalior) में थे. यहां वो दो कार्यक्रमों में शामिल हुए. इन दोनों ही कार्यक्रमों में सिंधिया की सक्रियता दिखाई दे रही थी. ऐसा लगा जैसे वो ग्वालियर में वापस अपनी ज़मीन तलाश रहे हों. यहां जैन समाज के क्षमा याचना कार्यक्रम में वो न केवल शामिल हुए बल्कि वहां उन्होंने रस्मी क्षमा भी मांगी. प्रदेश में बाढ़ (Flood) की स्थिति को लेकर उन्होंने कहा कि मदद में राजनीति नहीं होनी चाहिए. उन्होंने केंद्र से तत्काल राहत के तौर पर 500 करोड़ रूपये देने की भी मांग की. सिंधिया ने कहा कि वे प्रदेश के सभी 20 प्रभावित ज़िलों का दौरा करेंगे.

बाढ़ पीड़ितों की मदद को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए
पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अब प्रदेश के हक की लड़ाई लड़ने का ऐलान कर दिया है. सोमवार को ग्वालियर दौरे पर आए सिंधिया ने कहा कि प्रदेश में बाढ़ पीड़ितों की मदद को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए. सिंधिया ने कहा कि प्रदेश के 20 जिले बाढ़ प्रभावित हैं, वो इन सबका दौरा करेंगे. उन्होंने कहा कि वे मंगलवार को भोपाल में सीएम कमलनाथ से मुलाकात कर बाढ़ पर चर्चा भी करेंगे. सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने केंद्र सरकार से 500 करोड़ रुपए की मांग की है, मैं केंद्र से मांग करता हूं कि राष्ट्रीय आपदा कोष से ये राशि मिलती है, केंद्र सरकार को बिना राजनीति के इस राशि को जारी करना चाहिए.

शिवराज नहीं जनता मायने रखती है
शिवराज सिंह चौहान की बयानबाजी पर पूछे गए सवाल के जवाब में श्री सिंधिया ने कहा कि शिवराज सिंह जो भी कह रहे हैं वो मायने नही रखता, बल्कि जनता क्या कहती है ये ज्यादा मायने रखता है. जैन समाज के क्षमा याचना कार्यक्रम में शामिल हुए सिंधिया ने भी क्षमा मांगी. सिंधिया ने कहा कि- मेरी तरफ से उत्तम क्षमा, जाने अनजाने में मुझसे कोई गलती हुई हो मुझे माफ़ कर दीजिए. पीसीसी चीफ की रेस में सिंधिया सबसे बड़े दावेदार हैं. यही वजह है कि सिंधिया अपने समर्थकों और कार्यक्रमों के बहाने प्रदेश अपना दबदबा मजबूत बनाए रखना चाहते हैं. वहीं ग्वालियर में सिंधिया की लगातार सक्रियता के पीछे अगला चुनाव जीतने के लिए जमीन तलाशना भी एक वजह माना जा रहा है.



ये भी पढ़ें -
RBI गवर्नर शक्तिकांत ने भी माना- उम्मीद से भी बुरे हैं GDP के आंकड़े
NRC में शामिल होने के लिए आपके पास होने चाहिए ये डाक्यूमेंट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading