कमलनाथ के पूर्व मंत्री का सवाल- जब BJP लोकतंत्र की हत्या कर रही थी तब संघ चुप क्यों था!

जीतू पटवारी ने इलेक्शन कमीशन का नाम लिए बिना कहा, चश्मा पहन कर काम कर रहा है. जनता सबक सिखाएगी.
जीतू पटवारी ने इलेक्शन कमीशन का नाम लिए बिना कहा, चश्मा पहन कर काम कर रहा है. जनता सबक सिखाएगी.

पटवारी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधते हुए कहा हमारे यहां थे तो महाराजा थे, अब आप बताओ क्या हैं. वो कभी कहते हैं,'मैं टाइगर हूं, मैं कौवा हूँ, फिर जो उन्होंने कहा मैं बोल नहीं सकता.

  • Share this:
ग्वालियर.कांग्रेस नेता (Congress Leader) और कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे जीतू पटवारी (Jitu patwari) ने संघ पर हमला बोला है. उन्होंने कहा मध्य प्रदेश में जब लोकतंत्र की हत्या की जा रही थी तब शुचिता और नैतिकता की बात करने वाला संघ चुप क्यों था.

ग्वालियर आए जीतू पटवारी ने शिवराज, RSS और सिंधिया पर सवाल खड़े किए. पटवारी ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर निशाना साधते हुए कहा-ईमानदारी और राष्ट्रीयता की बात करने वाला संघ BJP की सौदेबाज़ी और लोकतंत्र की हत्या पर मौन क्यों था? हम सब देश और प्रदेश वासियों के लिए  सबसे पहले देश है, संविधान है. जब भाजपा और ज्योतिरादित्य सिंधिया इसे तार-तार कर रहे थे, इसकी होली जलाई जा रही थी तब ये संघ चुप क्यों था?

बीजेपी ने लगायी वोट की मंडी
पटवारी ने कहा भाजपा ने चुनाव और वोट की मंडी लगा दी. विधायकों की मंडी लगा दी. चुनाव नतीजे 10 नवंबर को आएंगे,लेकिन बीजेपी विधायकों की खरीद फरोख्त में लगी है. पटवारी ने सवाल किया कि आखिर बीजेपी प्रदेश को क्या देना चाहती है. ये सवाल बन रहा है. केन्द्र सरकार के कहने पर प्रदेश की सरकार गिराने में प्रदेश के नेता लग गए. मतगणना के बाद तो शिवराज सिंह जी को इस्तीफा देना पड़ेगा, वो अपना इस्तीफा लिखकर तैयार रहें.



'कांग्रेस में सिंधिया महाराज थे, अब टाइगर और कौवा'
पटवारी ने ज्योतिरादित्य  सिंधिया पर निशाना साधते हुए कहा हमारे यहां थे तो महाराजा थे, अब आप बताओ क्या हैं. वो कभी कहते हैं,'मैं टाइगर हूं, मैं कौवा हूँ, फिर जो उन्होंने कहा मैं बोल नहीं सकता. हमारी पार्टी के नेता रहे हैं इसलिए उनके बारे में कुछ बोलना अच्छा नहीं लगता. हमने उन्हें सिर माथे पर बिठाया. जीतू पटवारी ने इलेक्शन कमीशन का नाम लिए बिना कहा, चश्मा पहन कर काम कर रहा है. जनता सबक सिखाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज