लाइव टीवी

ट्रैफिक नियम तोड़ा तो बच्चों ने रोका, फिर गीता पर हाथ रख लेनी पड़ी शपथ

Sushil Koushik | News18Hindi
Updated: January 29, 2020, 4:54 PM IST
ट्रैफिक नियम तोड़ा तो बच्चों ने रोका, फिर गीता पर हाथ रख लेनी पड़ी शपथ
बिना सीट बेल्ट के वाहन चला रहे लोगों को रोक कर जब बच्चों ने गीता को आगे किया और कहा कि शपथ लें आज के बाद नियम कभी नहीं तोड़ेंगे तो लोगों ने खुशी-खुशी बच्चों का कहना माना. इस दौरान कई वाहन चालकों ने तो बच्चों से कान पकड़ कर माफी भी मांगी. (प्रतीकात्मक फोटो)

ग्वालियर में बच्चों की अनोखी पहल, ट्रैफिक पुलिस (Traffic police) ने मांगी स्कूली बच्चों की मदद, गीता और कुरान पर हाथ रखवा दिलवाई नियम न तोड़ने की शपथ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2020, 4:54 PM IST
  • Share this:
ग्वालियर. सड़क पर ट्रैफिक नियम (Traffic Rules) तोड़ते अचानक आपको कोई बच्चा रोके और गीता या कुरान सामने रख कर शपथ लेने को कहे तो शायद आप भी चौंक जाएंगे. ऐसा ही कुछ मंगलवार को ग्वालियर में हुआ. ट्रैफिक पुलिस ने स्कूली बच्चों की मदद ली और नियम तोड़ने वालों को रोक कर धर्मग्रंथों (sacred scripture) पर हाथ रख रूल्स न तोड़ने की शपथ दिलवाई. ऐसे में बिना हेलमेट और सीट बेल्ट के वाहन चलाने वाले कई लोगों को रोका गया और लोगों ने बच्चों की बात मानते हुए शपथ भी ली.

कान पकड़ कर मांगी माफी
बिना सीट बेल्ट के वाहन चला रहे लोगों को रोक कर जब बच्चों ने गीता को आगे किया और कहा कि शपथ लें आज के बाद नियम कभी नहीं तोड़ेंगे तो लोगों ने खुशी-खुशी बच्चों का कहना माना. इस दौरान कई वाहन चालकों ने तो कान पकड़ कर बच्चों से माफी भी मांगी और उनकी इस पहल की सराहना की. इस दौरान मुरैना से आए पिंटू सिकरवार ने कहा कि आज बच्चों की ओर से मिली इस नसीहत को याद रखेंगे और बिना हेलमेट कभी गाड़ी नहीं चलाएंगे.

दो घंटे तक चला अभयान

ग्वालियर के गोला मंदिर चौराहे पर ट्रैफिक पुलिस का यह अभियान करीब दो घंटे तक चला. इस दौरान ट्रैफिक पुलिसकर्मियों के साथ बड़ी संख्या में स्कूली बच्चे इसका हिस्सा बने. इस दौरान बड़ी संख्या में लोग बिना हेलमेट के मिले, साथ ही कुछ लोग बिना सीट बेल्ट के कार चलाते भी रोके गए. सभी ने बच्चों की इस पहल की सराहना की और भविष्य में नियमों के पालन की शपथ ली.

लोग धार्मिक शपथ को मानते हैं
ट्रैफिक डीएसपी विजय सिंह भदौरिया ने कहा कि पुलिस लोगों को जागरूक करने के लिए अलग-अलग तरह की मुहिम लगातार चलाती रहती है, लेकिन उसके बावजूद भी कई लोग ऐसे होते हैं जो नियमों का पालन नहीं करते. चूंकि भारत में लोग धार्मिक वचनों को ज्यादा मानते है इसीलिए उन्होंने स्कूली बच्चों के माध्यम से धर्म ग्रंथ पर हाथ रखकर लोगों को शपथ दिलाई है, ताकि वह नियमों का पालन करें और अपने जीवन को सुरक्षित रखें.

ये भी पढ़ेंः मोरारी बापू ने नेताओं को दी सीख- लगातार सत्ता में आना है तो रामायण पढ़ो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 4:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर