होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Mala Sharma Murder Mystery: माला शर्मा हत्याकांड में सनसनीखेज खुलासा, बाइक के लिए भाई ने ही किया बहन का कत्ल

Mala Sharma Murder Mystery: माला शर्मा हत्याकांड में सनसनीखेज खुलासा, बाइक के लिए भाई ने ही किया बहन का कत्ल

पुलिस के अनुसार माला की हत्या उसके सगे भाई शेखर और उसके दोस्त अभिषेक ने की थी.

पुलिस के अनुसार माला की हत्या उसके सगे भाई शेखर और उसके दोस्त अभिषेक ने की थी.

Mala Sharma Murder Case: जनकगंज पुलिस ने जांच के दौरान इलाके के CCTV फुटेज खंगाले. घटना के वक्त माला के घर के नजदीक लगे ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पुलिस ने जनकगंज के अयोध्या नगर में 6 अक्टूबर को हुई माला शर्मा की हत्या की गुत्थी सुलझा ली है.
माला की हत्या उसके सगे भाई शेखर ने बाइक खरीदने और लग्जरी शौक पूरा करने के लिए की थी.

ग्वालियर. ग्वालियर के चर्चित माला शर्मा हत्याकांड मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है. दरअसल जनकगंज के अयोध्या नगर में 6 अक्टूबर को हुई माला शर्मा की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. माला की हत्या उसके सगे भाई शेखर ने की थी. शेखर ने बाइक खरीदने और लग्जरी शौक पूरा करने के लिए इस वारदात को अंजाम दिया था. शेखर अपने दोस्त के साथ लूट करने के लिए नकाब पहनकर अपनी बहन के घर पहुंचा था, घटना के दौरान माला ने विरोध किया तो शेखर और अभिषेक ने उसका गला घोंट दिय.। पुलिस ने आरोपी भाई और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है.

ग्वालियर के जनकगंज थाना क्षेत्र के अयोध्यापुरी में माला शर्मा नाम की विवाहिता की उसके घर में 6 अक्टूबर को लाश मिली थी. माला अपने ससुराल स्थित घर मे मृत अवस्था में मिली थी. उसके गले पर चोंट के निशान थे. माला का छोटा सा बच्चा लाश के पास ही रोता हुआ मिला था. घटना के वक्त माला का पति मनीष होटल में काम पर गया था.

पुलिस को पहले पति पर ही था शक 

इस मामले में सूचना मिलते ही जनकगंज पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू हुई. पति मनीष ने पुलिस को बताया कि किसी ने घर में घुस कर माला की हत्या की है. घर में रखे पांच लाख रुपए की कीमत का सोना और पचास हजार गायब है. तो उधर माला के परिवार वालों ने माला के पति मनीष पर प्रताड़ना के आरोप लगाए थे. जनकगंज पुलिस को भी शुरू से ही मनीष पर शक था. लेकिन मनीष ने बार बार कहा कि उसने माला की हत्या नहीं की, घटना के वक्त वो अपनी ड्यूटी पर काम कर रहा था.

पुलिस को CCTV से मिला कातिल का सुराग 

जनकगंज पुलिस ने जांच के दौरान इलाके के CCTV फुटेज खंगाले. घटना के वक्त माला के घर के नजदीक लगे CCTV कैमरों में 2 युवक संदिग्ध नज़र आए. एक ने चेहरे पर कपड़ा बांध रखा था तो वहीं दूसरा युवक अपना चेहरा छुपाते हुए निकल रहा था. पुलिस CCTV फ़ुटेज के आधार पर जांच की तो संदिग्धों का हुलिया माला के भाई शेखर से मिल रहा था. पुलिस ने जानकारी जुटाई तो पता चला कि शेखर आवारा किस्म का लड़का है. पुलिस की शक शेखर पर घूमी और फिर उसे पूछताछ के लिए बुलाया गया. पहले तो शेखर अपने जीजा मनीष पर ही आरोप लगाता रहा. लेकिन घटना स्थल के पास के CCTV फुटेज दिखाकर पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो वो टूट गया. शेखर ने अपनी बहन की हत्या की कहानी बयां कर दी.

लग्जरी शौक पूरा करने के लिए बहन का कर दिया कत्ल 

पूछताछ में शेखर ने पुलिस को बताया कि उसने अपने दोस्त अभिषेक के साथ मिलकर बहन माला की हत्या की थी. जनकगंज पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार किया और दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। दरअसल शेखर ने अपनी बहन माला के घर रखे सोने और नकदी लूटने के लिए योजना बनाई. शेखर दोस्त अभिषेक को अपने साथ लेकर चेहरे पर नकाब पहनकर बहन के घर मे घुसा था. घर मे रखा पांच लाख का सोना और 50 हज़ार की नकदी लूटने के दौरान माला ने जोरदार विरोध किया तो शेखर और अभिषेक ने माला का गला घोट दिया. शेखर ने वारदात से पहले इलाके के सीसीटीवी कैमरों की रेकी कर ली थी. यही वजह थी कि शेखर और अभिषेक वारदात के पहले और बाद में सीसीटीवी में चेहरा छुपाकर जा रहे थे.

Tags: Gwalior news, Gwalior Police, Madhya pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें