Home /News /madhya-pradesh /

20 लाख मांग रही थी समाज सेविका, दे रही थी बदनाम करने की धमकी, शख्स ने उठाया ये खौफनाक कदम

20 लाख मांग रही थी समाज सेविका, दे रही थी बदनाम करने की धमकी, शख्स ने उठाया ये खौफनाक कदम

Gwalior Suicide Case: ट्रांसपोर्ट कराबोरी ने समाज सेविका की ब्लैकमेलिंग से तंग आकर आत्महत्या कर ली.

Gwalior Suicide Case: ट्रांसपोर्ट कराबोरी ने समाज सेविका की ब्लैकमेलिंग से तंग आकर आत्महत्या कर ली.

Gwalior Crime News: मुरैना में ट्रांसपोर्ट कारोबारी यतेंद्र सिंह सिकरवार ने अवैध कट्टे से खुद को गोली मार ली. मरने से पहले उसने सुसाइड नोट भी लिखा. उसने ग्वालियर के रिटायर्ड डीएसपी की पत्नी समाज सेविका ममता शर्मा पर 20 लाख रुपये की ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया. उसने यह आरोप भी लगाया है कि महिला ने उसे बदनाम करने की धमकी दी है. इससे ठीक दो दिन पहले ममता ने मृतक के खिलाफ 5 लाख की ब्लैकमेलिंग का केस दर्ज कराया था. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

अधिक पढ़ें ...

ग्वालियर. ग्वालियर में जिस ट्रांसपोर्ट कारोबारी पर 2 दिन पहले ब्लैकमेलिंग की FIR दर्ज हुई उसने शनिवार रात मुरैना में अवैध कट्टे से गोली मारकर खुदकुशी कर ली. ट्रांसपोर्ट कारोबारी ने खुदकुशी से पहले सुसाइड नोट भी लिखा. इसमें उसने ग्वालियर की महिला समाजसेविका और उसके रियायर्ड पुलिस अफसर पति पर 20 लाख रुपये के लिए ब्लैकमेल करने और झूठा केस दर्ज कराने का जिक्र किया है. ट्रांसपोर्ट कारोबारी की खुदकुशी के बाद मुरैना पुलिस ने FIR दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.

मुरैना के सिविल लाइन थाना इलाके में रहने वाले जयभारत ट्रांसपोर्ट के संचालक शैंकी उर्फ यतेंद्र सिकरवार ने शनिवार रात खुद को गोली मार ली. परिजन घायल शैंकी को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे. यहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया. खबर मिलते ही मुरैना पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां से सुसाइड नोट और ग्वालियर के हजीरा थाना में दर्ज FIR  की कॉपी मिली.

सुसाइड नोट में प्रताड़ना का जिक्र

पुलिस को मिले सुसाइड नोट में लिखा है- ” मैं यतेंद्र अपने होशो-हवाश में आत्महत्या कर रहा हूं. मुझे ग्वालियर निवासी रिटायर डीएसपी महेंद्र शर्मा और उनकी पत्नी ममता शर्मा ब्लैकमेल कर रहे थे. हमारे घर वालों से परेशान किया जा रहा था. हमसे 20 लाख रुपये की मांग कर रहे थे. न देने पर झूठे केस में फंसाने की धमकी दी जा रही थी. आज इन्होंने हजीरा थाने में मेरे खिलाफ झूठा केस दर्ज करा ही दिया. इन्होंने मुझे जलील और मेरे परिवार को बदनाम किया है. इसके कारण मैं आत्महत्या कर रहा हूं. मेरी आत्महत्या का कारण रिटायर्ड डीएसपी महेंद्र शर्मा और उनकी  पत्नी ममता शर्मा हैं -यतेंद्र सिंह सिकरवार.”

महिला ने दो दिन पहले कराई थी एफआईआर

ये सुसाइड नोट मिलने के बाद मुरैना पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया है. सुसाइड नोट और परिजनों के बयानों के आधार पर पुलिस मामले की अगली पड़ताल में जुट गई है. मुरैना पुलिस जल्द ही ग्वालियर आकर हजीरा पुलिस से प्रकरण की जानकारी लेगी. थाना हजीरा TI मनीष धाकड़ ने बताया कि बिरलानगर में रहने वाली सामाजिक कार्यकर्ता की शिकायत पर FIR दर्ज की गई थी. FIR के मुताबिक सितंबर महीने में समाजसेविका की मुलाकात मुरैना निवासी शैंकी सिकरवार से हुई थी. इसके बाद शैंकी का महिला के घर आना-जाना शुरू हो गया.

मृतक पर लगाए थे ये आरोप

एफआईआर के मुताबिक, एक दिन शैंकी महिला के घर पहुंचा और मौका पाकर कमरे में चार्जिंग पर लगे उसके मोबाइल से महिला के कुछ फोटो-VIDEO अपने मोबाइल में ले लिए. कुछ दिनों बाद शैंकी ने समाजसेविका को फोन कर 5 लाख रुपए की डिमांड की. शैंकी ने धमकाते हुए कहा कि तुम्हारे कुछ फोटोग्राफ मेरे पास हैं. अगर मुझे रुपए नहीं दिए तो फोटो एडिट कर वॉट्सएप और फेसबुक पर वायरल कर तुम्हें बदनाम कर दूंगा. हजीरा पुलिस इस मामले की जांच कर रही थी, इससे पहले ही शनिवार रात आरोपी शैंकी ने खुदकुशी कर ली.

Tags: Gwalior news, Mp news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर