लाइव टीवी

Covid-19: 3 साल के बच्चे को घर छोड़ हॉस्पिटल में थी ये मां, इलाज के दौरान हुई मौत
Gwalior News in Hindi

Sushil Koushik | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 7, 2020, 7:41 PM IST
Covid-19: 3 साल के बच्चे को घर छोड़ हॉस्पिटल में थी ये मां, इलाज के दौरान हुई मौत
इलाज के दौरान ग्वालियर के बिरला अस्पताल में उन्होंने दम तोड़ दिया.

मध्य प्रदेश के शिवपुरी मेडिकल कॉलेज में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए ड्यूटी में लगी फार्मासिस्ट डॉक्टर वंदना तिवारी की मौत हो गई.

  • Share this:
ग्वालियर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शिवपुरी मेडिकल कॉलेज में कोरोना मरीजों (Covid Patient) के इलाज के लिए ड्यूटी में लगी फार्मासिस्ट डॉक्टर वंदना तिवारी की मौत हो गई. मृतका का ड्यूटी के दौरान ब्रेन हेमरेज हुआ था. इलाज के दौरान ग्वालियर के बिरला अस्पताल में उन्होंने दम तोड़ दिया. जानकारी के अनुसार, उनका 31 मार्च की रात में ब्रेन हेमरेज हुआ. इसके बाद 1 अप्रैल को उन्हें बेहतर इलाज के लिए ग्वालियर रैफर किया गया था. बताया जा रहा है कि डॉ. वंदना पिछले दो दिनों से कोमा में थीं. कोरोना ड्यूटी के लिए दौरान वे अपने 3 साल के बच्चे को घर छोड़ मेडिकल कॉलेज में ही रह रही थीं.

जान पर खेलकर कर रहे हैं ड्यूटी
मध्य प्रदेश के साथ पूरे देश में इस वक्त स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी, डॉक्टर, पुलिस वाले अपनी जान पर खेलकर कोरोना मरीजों का इलाज और कानून-व्यवस्था संभाल रहे हैं. जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए अन्य विभागों के कर्मचारी भी दिन रात ड्यूटी कर रहे हैं.

एमपी सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला



मध्य प्रदेश सरकार ने कोरोना आपदा में ड्यूटी कर रहे सरकारी कर्मचारी और अधिकारियों के हित में फैसला लिया है. शिवराज सरकार ने तय किया है कि कोरोना आपदा में ड्यूटी कर रहे कर्मचारी और अधिकारियों का बीमा कराया जाएगा. यह बीमा 50 लाख तक का होगा.



इसमें नगरीय प्रशासन पुलिस राजस्व समेत उन सभी विभागों के अधिकारी और कर्मचारी शामिल होंगे जो कोरोना आपदा में ड्यूटी कर रहे हैं, ताकि काम के वक्त उन्हें कम से कम अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा का भरोसा सरकार की ओर से बना रहे. यह मांग उठ रही थी कि कोरोना आपदा में कई और विभागों के कर्मचारी भी काम कर रहे हैं, लिहाजा उन्हें भी इसी तरीके के सुरक्षा का भरोसा दिया जाना चाहिए.

कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण नहीं जा पा रहे घर
संक्रमण के चलते कई अधिकारी अपने घर नहीं जा पा रहे हैं. इसका कारण अपने परिजनों को संक्रमण से रोकना है. सुरक्षा के लिहाज से कई अधिकारी घर से दूर गेस्ट हाउस में ही रुक रहे हैं. प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के कई आलाधिकारी लगातार ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं.

 

ये भी पढ़ें:

MP: 14 अप्रैल के बाद भी जारी रह सकता है लॉकडाउन, CM बोले- जिंदगी जरूरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 7, 2020, 7:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading