• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP: CM शिवराज ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया दौरा, कहा- हर नुकसान का दिया जाएगा मुआवजा

MP: CM शिवराज ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया दौरा, कहा- हर नुकसान का दिया जाएगा मुआवजा

सीएम ने कहा कि महाविनाश में राहत के लिए सिर्फ कलेक्टर से काम नहीं चलेगा, इसके लिए मंत्रियों की अंतर्विभागीय टीम बनायी जाएगी.

सीएम ने कहा कि महाविनाश में राहत के लिए सिर्फ कलेक्टर से काम नहीं चलेगा, इसके लिए मंत्रियों की अंतर्विभागीय टीम बनायी जाएगी.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि महाविनाश हुआ है. हजारों करोड़ रुपए का 'इंफ्रास्ट्रक्चर' ध्वस्त हो गया है. सड़क, पुल, बिजली प्रदाय, बिजली सबस्टेशन, ट्रांसफार्मर और संचार व्यवस्थाओं से जुड़ी आधारभूत संरचनाएं ध्वस्त हुई हैं.

  • Share this:

ग्वालियर. मध्य प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने गुरुवार को ग्वालियर के बाढ़ प्रभावित लोगों के बीच पहुंचे. डबरा और भितरवार तहसील (Dabra And Bhitarwar Tehsil) के 25 गांवों में पहुंचकर सीएम शिवराज सिंह ने लोगों का दर्द सुना. इस दौरान सीएम ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि अंतर विभागीय कमेटी का गठन किया जाएगा. इसमें प्रमुख विभागों के मंत्री और अधिकारी शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि ये कमेटी राहत और बचाव कार्य  बेहतर तरीके से करेगी. जानकारी के मुताबिक, गुरुवार को ग्वालियर आए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सड़क मार्ग से 25 गांवों के अंदर जाकर बाढ़ (Flood) की विभीषिका देखी. सीएम ने गांवों के लोगों ने मुलाकात कर बाढ़ का दर्द सुना. मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ तो पहले भी कई बार आयी, लेकिन उत्तरी अंचल में इस तरह का विनाश पहले कभी नहीं देखा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि महाविनाश हुआ है. हजारों करोड़ रुपए का ‘इंफ्रास्ट्रक्चर’ ध्वस्त हो गया है. सड़क, पुल, बिजली प्रदाय, बिजली सबस्टेशन, ट्रांसफार्मर और संचार व्यवस्थाओं से जुड़ी आधारभूत संरचनाएं ध्वस्त हुई हैं. पानी बहुत अधिक वेग से आया था. बाकी चीजें भी हम नहीं बचा पाए. उन्होंने कहा कि लेकिन हम इंसान की जिंदगी बचाने में सफल रहे हैं. जबकि मकान टूट गए. पशु बह गए. और भी नुकसान हुआ है.हमारी प्राथमिकता प्रभावित क्षेत्र में नागरिकों को स्वच्छ जल, भोजन मुहैया कराने के साथ ही उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखना है, क्योंकि बाढ़ के बाद संबंधित क्षेत्रों में बीमारियां फैलने की आशंका बनी
रहती है.

बाढ़ राहत के लिए मंत्रियों की अंतरविभागीय टीम बनाएंगे
सीएम ने कहा कि महाविनाश में राहत के लिए सिर्फ कलेक्टर से काम नहीं चलेगा, इसके लिए मंत्रियों की अंतर्विभागीय टीम बनायी जाएगी. जिसके जरिए बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत और पुनर्वास के लिए सड़क, पुल, पुलिया और इससे जुड़े अन्य कार्यों के लिए इसके अलावा ये भी प्रयास किया जाएगा. जिन लोगों के मकान टूटे हैं, एक लाख बीस हजार की लागत से उनके लिए मकान बनाकर दिए जाएं. प्रभावितों के लिए तत्काल में पचास किलो अनाज की व्यवस्था भी सरकार करेगी.

सीएम ने कहा- पाई-पाई की करेंगे भरपाई
शिवराज ने कहा कि बाढ़ ने तबाही फैलाई है. बाढ़ से हुए नुकसान का जल्द सर्वे किया जाएगा. सीएम ने कहा कि सरकार बाढ़ पीड़ितों के कपड़े-लत्ते, बर्तन और भीगा अनाज का मुआवजा देगी. जिनके मकान टूटे उनको एक लाख २० हजार रुपए का मुआवजा दिया जाएगा. मवेशी की मौत पर तीस हजार रुपए, बछडों की मौत पर दस हजार रुपए का मुआवजा देंगी सरकार. कुआ-नलकूप के नुकसान के लिए पच्चीस हजार रुपए का मुआवजा देंगे. मुर्गा-मुर्गी के नुकसान के लिए भी साठ रुपए का मुआवजा दिया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज