Home /News /madhya-pradesh /

MP News: कमलनाथ के बाढ़ प्रभावित दौरों का कोई मतलब नहीं, जानिए उन्हीं के पूर्व साथियों ने क्यों कही ये बात

MP News: कमलनाथ के बाढ़ प्रभावित दौरों का कोई मतलब नहीं, जानिए उन्हीं के पूर्व साथियों ने क्यों कही ये बात

एमपी कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ के बाढ़ प्रभावित दौरे पर उन्हीं के पूर्व साथियों ने तंज कसा है. (File)

एमपी कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ के बाढ़ प्रभावित दौरे पर उन्हीं के पूर्व साथियों ने तंज कसा है. (File)

Madhya Pradesh News: कमलनाथ के बाढ़ प्रभावित दौरे पर उन्हीं के पूर्व साथियों और सिंधिया समर्थक मंत्रियों ने तंज कसा है. ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर और प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि उनके दौरे का अब कोई औचित्य नहीं.

ग्वालियर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh News) कांग्रेस अध्यक्ष कमलाथ के बाढ़ग्रस्त इलाकों के दौरे पर उन्हीं के पूर्व साथियों और बीजेपी के मंत्रियों ने निशाना साधा है. बीजेपी के मंत्रियों तुलसी सिलावट और प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कमलनाथ के दौरे को दिखावटी बताया है. उनका कहना है कि कमलनाथ के दौरे का अब कोई औचित्य नहीं. उन्हें दौरा करना ही था तो मुख्यमंत्री शिवराज की तरह करते.

केंद्रीय मंत्री सिंधिया समर्थक मंत्रियों ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर तंज कसा. ग्वालियर जिले के प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि कमलनाथ अब दौरे पर आ रहे हैं, जब पूरी सरकार एक-एक  गांव-गांव घूम चुकी. अब आने का क्या औचित्य. वहीं, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि जब कमलनाथ मुख्यमंत्री थे, तब बाढ़ के दौरान नहीं आए. अगर उनको वाकई में आना ही था तो उड़न खटोले से नहीं आते. वैसे आते जैसे हमारे मुख्यमंत्री आए. जैसे हमारे सीएम गांव-गांव गए, वैसे ही कमलनाथ जी चप्पे-चप्पे जाएं. ऊर्जा मंत्री ने कहा कि अब जब सिंधिया जी जा रहे हैं, तो कमलनाथ जी दौड़े-दौड़े घूम रहे हैं.

कमलनाथ ने पूर्व मंत्री के साथ किया दौरा

बता दें, सीएम शिवराज सिंह चौहान के बाद कमलनाथ ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया. कमलनाथ ने पूर्व मंत्री गोविंद सिंह के साथ हेलीकॉप्टर से दतिया, शिवपुरी, श्योपुर और ग्वालियर जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया. इस दौरान कमलनाथ ने कहा कि अंचल में ऐसी त्रासदी उन्होंने पहले कभी नहीं देखी. दुख की घड़ी में राजनीति की बजाए सरकार का सहयोग करना चाहिए. हालांकि, उन्होंने राहत कार्य मे देरी को लेकर सरकार से सवाल भी किए हैं. कमलनाथ ने कहा कि सरकार ये बताए कि लोगों को राहत सामग्री और मदद कब तक मिलेगी.

सरकार बनने से गिरने तक 4 बार ग्वालियर आए कमलाथ

गौरतलब है कि, कमलनाथ इससे पहले विधानसभा उप चुनाव के दौरान ग्वालियर आए थे. 2018 में सीएम बनने और सरकार गिरने तक कमलनाथ 4 बार ग्वालियर के दौरे पर आए. अभी गवालियर-चंबल की 34 सीटों में से 17 सीटें कांग्रेस के पास हैं. वहीं, 16 सीटों पर BJP का कब्जा है, एक सीट BSP के पास है.

बाढ़ से करोड़ों का नुकसान

गवालियर चंबल अंचल में बाढ़ ने बीते एक सप्ताह से तबाही मचा रखी है. बाढ़ में हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है. प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को ग्वालियर के बाढ़ प्रभावित लोगों के बीच पहुंचे थे. डबरा, भितरवार तहसील के 25 गांवों में पहुंचकर सीएम शिवराज सिंह ने लोगों का दर्द सुना. हजारों करोड़ रुपयों का इंफ्रास्ट्रक्चर ध्वस्त हो गया. सड़क, पुल, बिजली प्रदाय, बिजली सबस्टेशन, ट्रांसफार्मर और संचार व्यवस्थाओं से जुड़ी आधारभूत संरचनाएं ध्वस्त हुई हैं. सीएम ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि अंतर विभागीय कमेटी का गठन किया जाएगा. ये कमेटी जल्द राहत और बचाव बेहतर तरीके से करेगी.

Tags: BJP, Congress, Jyotiraditya Scindia, Kamal nath, Mp news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर