Home /News /madhya-pradesh /

अब 'गोडसे बयान अध्ययन माला' भी, हिंदू महासभा बोली- लाखों लोगों तक पहुंचाएंगे गोडसे का बयान

अब 'गोडसे बयान अध्ययन माला' भी, हिंदू महासभा बोली- लाखों लोगों तक पहुंचाएंगे गोडसे का बयान

ग्वालियर में गोडसे बयान अध्ययन माला शुरू कर हिदू महासभा ने नया विवाद खड़ा कर दिया है.

ग्वालियर में गोडसे बयान अध्ययन माला शुरू कर हिदू महासभा ने नया विवाद खड़ा कर दिया है.

Nathuram Godse news: हिंदू महासभा ने अब फिर नया विवाद खड़ा कर दिया है. महासभा ने ग्वालियर में "गोडसे बयान अध्ययन माला" शुरू की है. इसके द्वारा वे गोडसे के फांसी से पहले दिए बयान को लाखों लोगों तक पहुंचाएंगे. इसके माध्यम से महासभा नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे का महिमा मंडन करेगी. हिंदू महासभा पहले भी यहां गोडसे का मंदिर और गोडसे ज्ञानशाला बना चुकी है. इस पर भारी विवाद होने के बाद प्रशासन ने उसे बंद कर दिया था.

अधिक पढ़ें ...

ग्वालियर. हिन्दू महासभा ने एक बार फिर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे का महिमा मंडन शुरू कर दिया है. ग्वालियर में हिंदू महासभा ने पहले गोडसे का मंदिर और गोडसे ज्ञानशाला बनाने की कोशिश की थी, वहीं अब हिन्दू महासभा ने “गोडसे बयान अध्ययन माला” शुरू की है. इस मौके पर ग्वालियर के हिंदू महासभा भवन में एक बार फिर गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के नाम के नारे सुनाई दिए.

हिन्दू महासभा ने बुधवार को दौलतगंज स्थित भवन में “गोडसे बयान अध्ययनशाला” का शुभारंभ किया. इस मौके पर अंबाला जेल से आई मिट्टी को कार्यालय में रखा गया. हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज हरियाणा के अंबाला से मिट्टी लेकर आए हैं, दरअसल अंबाला में 15 नवंबर 1949 को गोडसे और उनके सहयोगी नारायण आप्टे को महात्मा गांधी की हत्या के लिए फांसी दी गई थी. हिंदू महासभा ने अंबाला से इसी इलाके की जमीन से मिट्‌टी जमा की. इस मिट्टी को ही प्रतीकात्मक रूम से नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे माना है.

जन-जन में प्रचारित किया जाएगा बयान- भारद्वाज

इस मिट्टी से यहां सभी का तिलक किया गया. बता दें, हिन्दू महासभा ने इस मिट्टी को अध्ययनशाला में बिछाया है. हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज का कहना है- फांसी से पहले गोडसे के आखिरी बयान को जन-जन में प्रचारित किया जाएगा. महासभा के मुताबिक इस बयान को सोशल मीडिया के जरिए करोडों लोगों तक पहुंचाएंगे. इसका लक्ष्य एक करोड़ से ज्यादा लोगों को जोड़ना है.

गोडसे मंदिर, ज्ञानशाला को लेकर पहले हो चुका विवाद

गौरतलब है कि ग्वालियर में हिन्दू महासभा गोडसे को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहती है. महासभा ने नंवबर 2017 में हिन्दू महासभा कार्यालय में नाथूराम गोडसे की मूर्ति स्थापित कर मंदिर बना लिया था. गांधी के हत्यारे गोडसे का मंदिर बनने के बाद जमकर विवाद हुआ था. कांग्रेस के भारी विरोध के बाद प्रशासन ने मंदिरके ताला डालकर गोडसे की मूर्ति जब्त कर ली थी. पिछले साल जनवरी महीने में हिन्दू महासभा ने अपने कार्यालय में गोडसे ज्ञान शाला की शुरुआत की थी. युवाओं को नाथूराम गोडसे के इतिहास और साहित्य से परिचित कराने के लिए हिंदू महासभा ने ज्ञानशाला का शुभारंभ किया था. उस वक्त ये मामला देशभर में सुर्खियां में आया. मामला बिगड़ते देख सप्ताहभर बाद प्रशासन ने गोडसे ज्ञानशाला पर भी तालाबंदी कर दी थी.

Tags: Bhopal news, Mp news, Nathuram Godse

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर