ग्वालियर: NSUI ने ज्ञापन की आड़ में सिंधिया को थमाए बेशरम के फूल, मिला ये जवाब

ग्वालियर में ज्योतिरादित्य सिंधिया को एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने उनका काफिला रोका और बेशर्म के फूल थमा दिये.

ग्वालियर में अपने घर से एयरपोर्ट जा रहे राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के काफिले को NSUI के कार्यकर्ताओं ने रोका तो सिंधिया ने बीजेपी कार्यकर्ता समझकर गाड़ी रोक दी, लेकिन इसके बाद जो हुआ, उसने सिंधिया को असहज कर दिया.

  • Share this:


ग्वालियर. मध्य प्रदेश के ग्वालियर में अपने घर से एयरपोर्ट जा रहे राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Rajya Sabha MP Jyotiraditya Scindia) के काफिले को NSUI ने रोका, सिंधिया ने समझा भाजपा कार्यकर्ता हैं, ऐसे में उन्होंने गाड़ी रोक दी, लेकिन इसके बाद जो हुआ, उसने सिंधिया को असहज कर दिया. असल में, इस दौरान NSUI कार्यकर्ताओं ने कार में बैठे सिंधिया को पहले सूती मालाएं भेंट की, फिर ज्ञापन नुमा कागज देकर बेशर्म के फूल उन्हें थमा दिए. लेकिन सिंधिया ने भी यहां पर दरियादिली दिखाते हुए फूल लौट दिए, लेकिन ज्ञापन का कागज रख और सूत की मालाएं अपने सुरक्षाकर्मी को रखने के लिए दे दी.

लोग कोरोना से जूझ रहे थे, तब सिंधिया कहां थे: NSUI

ग्वालियर के 2 दिवसीय दौरे पर आए ज्योतिरादित्य सिंधिया  शनिवार को दिल्ली जाने के लिए महल से एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए थे. इसी दौरान गोला का मंदिर चौराहा के पास कुछ युवाओं के रोकने पर सिंधिया ने अपना काफिला रोका. इन युवाओं में NSUI का राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी भी शामिल था. काफिला रुकते ही युवाओं का दल सिंधिया के पास पहुंचा, गाड़ी में बैठे सिंधिया के हाथों पहले सूत की मालाएं दी, उसके के बाद एक ज्ञापन थमाया, फिर उस पर बेशर्म के फूल भी रख दिए. NSUI नेता सचिन ने कहा कि जब लोग कोरोना संक्रमण से जूझ रहे थे, तब सिंधिया नही आए. कोरोना वायरस चला गया तो अब भोपाल से लेकर ग्वालियर-चंबल  के दौरे पर आएं हैं. सिंधिया जी राजनीति में भी अवसर तलाश रहे हैंण्

सिंधिया ने दिखाई दरियादिली 

सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को जब पता लगा कि ज्ञापननुमा कागज देने वाले NSUI के कार्यकर्ता हैं. सिंधिया ने सूत की मालाएं ली, ज्ञापननुमा कागज़ लिया, लेकिन बेशर्म के फूल लौटा दिया. सिंधिया ने सूत की मालाएं अपने सुरक्षा कर्मी को दे दी, वहीं NSUI के पत्र को अपने पास रखा और फिर सिंधिया का काफिला एयरपोर्ट रवाना हुआ.

विरोध की थी आशंका, इंटेलिजेंस हुआ फेल हुआ

ग्वालियर में पुलिस को सिंधिया के विरोध की आशंका पहले से ही थी, सिंधिया के दौरे से एक दिन पहले कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता ने सिंधिया के खिलाफ पोस्टर लगाए थे. इसके बाद विरोध की आशंकाएं थी, यही वजह है कि सुगबुगाहट होने बाद  पुलिस ने शुक्रवार को NSUI के नेता वंश माहेश्वरी को नजरबंद कर लिया था. वहीं NSUI नेता  सचिन द्धिवेदी को तलाश किया जा रहा था, लेकिन पुलिस का इंटेलिजेंस फैल हो गया, और विरोध की ये घटना सामने आई.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.