पानी की कहानी: सनसनीखेज खुलासा, इस शहर के 20 लाख लोग पी रहे गंदा पानी
Gwalior News in Hindi

पानी की कहानी: सनसनीखेज खुलासा, इस शहर के 20 लाख लोग पी रहे गंदा पानी
ग्वालियर नगर निगम

मामले में खुलासा होने के बाद आनन-फानन में शहर के मेयर ने इस मामले में एक जांच कमेटी गाठित कर दी है, साथ ही पीएचई के आधिकारियों से पानी के सेंपल तलब किए हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर के लोगों के लिए चौकानें वाली खबर आई है, जिसके मुताबिक ग्वालियर नगर निगम के द्वारा जो पानी सप्लाई किया जा रहा है, वह पीने लायक ही नहीं है. ये खुलासा प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड द्वारा की गई जांच के दौरान हुआ है. जिसमें स्पष्ट किया गया है, कि जलाशय से फिल्टर प्लांटों में साफ करने के बाद सप्लाई किया जा रहा पानी भी पीने योग्य नहीं है. मामले में खुलासा होने के बाद आनन-फानन में शहर के मेयर ने इस मामले में एक जांच कमेटी गाठित कर दी है, साथ ही पीएचई के आधिकारियों से पानी के सेंपल तलब किए हैं.

दरअसल, ग्वालियर शहर में कई बार पीले और बदबूदार पानी की सप्लाई की खबर सामने आई है. हाल ही में कमलनाथ सरकार के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने शहर में घूमकर लोगों को वितरित हो रही गंदे पानी को प्रत्यक्ष देखा था. तब कलेक्टर और संभागीय कमिश्नर ने पानी सेंपल के जांच के आदेश दिए थे.

इसी जांच में खुलासा हुआ है कि निगम के द्वारा शहर में गंदे और प्रदूषित पानी की सप्लाई की जा रही है, जो पीने लायक नहीं है. मामले में नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष कृष्णराव दीक्षित ने ही निगम और पीएचई के आधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है.



ऑपरेशन खुशहाल नौनिहाल: प्रशासन ने 500 बच्चों को छुड़वाया
ग्वालियर में निगम के द्वारा हो रही गंदा और पीले पानी को लेकर प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के विशेषज्ञों ने निगम के तीनों फिल्टर प्लांटों से सप्लाई होने वाले पानी के सैंपल लिए थे. जांच में स्पष्ट हुआ कि पानी में बड़ी मात्रा में कॉलीफार्म बैक्टीरिया है. जबकि इस बैक्टीरिया की उपस्थिति मात्र ही पानी को प्रदूषित कर देती है. वहीं केमिकल आक्सीजन डिमांड (सीओडी) की मात्रा भी निर्धारित मानक (0) से कहीं ज्यादा पाई गई यानी पानी में प्रदूषित तत्वों की अधिकता है.

अब ऐसे में जब रिपोर्ट आयी है, तो मेयर ने पीएचई के आधिकारी और निगम के आधिकारियों को तलब किया है. साथ ही पानी के प्लांट की रिपोर्ट भी मांगी है. जो रिपोर्ट आयी है, वो बताती है कि पानी में कई गुना ज्यादा गंदगी घुली हुई है, जबकि निगम के टेस्ट में टर्बिडिटी 0.6, प्रदूषण बोर्ड की रिपोर्ट में निकली 8.6 है.

ग्वालियर के इन इलाकों में है गंदे पानी की समस्या
-शहर के दक्षिण विधानसभा क्षेत्र में गंदे पानी की सबसे अधिक समस्या है
-गुड़ी-गुढ़ा, वार्ड 39, वार्ड-55,56,58,21 चौरसिया कॉलोनी, बालीपुरम, उपनगर ग्वालियर आदि कॉलोनियों में गंदा पीले रंग का पानी आ रहा है

यह पढ़ें- कमलनाथ का दावा, कांग्रेस के दस विधायकों को दिया गया प्रलोभन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज