होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /एमपी: अब पार्षदों को भी देना होगा चुनावी खर्च का हिसाब, इतने रुपये में लड़ सकेंगे चुनाव

एमपी: अब पार्षदों को भी देना होगा चुनावी खर्च का हिसाब, इतने रुपये में लड़ सकेंगे चुनाव

Gwalior Story: मध्य प्रदेश के चुनावों में अब पार्षद को भी चुनावी खर्च का हिसाब-किताब देना पड़ेगा. इसके लिए गाइडलाइन जारी हो गई है.

Gwalior Story: मध्य प्रदेश के चुनावों में अब पार्षद को भी चुनावी खर्च का हिसाब-किताब देना पड़ेगा. इसके लिए गाइडलाइन जारी हो गई है.

MP Big News: अगर आप पार्षद का चुनाव लड़ने की सोच रहे हैं तो नई गाइडलाइन पर ध्यान जरूर दीजिए. मध्य प्रदेश निर्वाचन आयोग ...अधिक पढ़ें

ग्वालियर. मध्य प्रदेश में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव में अब पार्षद उम्मीदवार को भी अपना चुनावी खर्च का हिसाब-किताब पेश करना होगा. मध्य प्रदेश चुनाव आयोग ने निकाय चुनाव में पार्षद उम्मीदवार के खर्च की राशि निर्धारित कर दी है. चुनाव आयोग द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत अलग-अलग आबादी वाले नगर निगम चुनाव में पार्षद उम्मीदवार 3 लाख 75 हजार से 8 लाख 75 हजार रुपये तक खर्च कर पाएंगे.

इसी तरह नगर पालिका में पार्षद उम्मीदवार एक लाख से ढाई लाख रुपये तक खर्च कर पाएंगे। नगर परिषद में पार्षद उम्मीदवार अधिकतम 75 हजार रुपए खर्च कर पाएंगे. चुनाव के दौरान पार्षदों को आयोग के सामने अपना चुनावी खर्च का हिसाब पेश करना पड़ेगा. गौरतलब है कि निकाय चुनाव में अब तक महापौर और अध्यक्ष का चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार के लिए ही चुनावी खर्च की बंदिशें लागू थी, लेकिन इस बार पार्षद उम्मीदवार भी चुनावी खर्च के दायरे में आ गए हैं.

इतना बड़ा है चुनाव

मध्य प्रदेश के राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने बताया कि नगरीय निकाय चुनावों में अब पार्षदों को भी अपना चुनावी लेखा-जोखा पेश करना होगा. निर्वाचन कार्यालय के रिटर्निंग अफसर के पास ये तय वक्त में लेखाजोखा देना होगा. नगरीय निकायों में आबादी के लिहाज से पार्षद उम्मीदवार के चुनावी खर्च की सीमा तय की है. प्रदेश में कुल 16 नगर निगम, 100 नगर पालिकाएं और 264 नगर पंचायतें हैं.

महापौर पद के उम्मीदवार 35 लाख तक खर्च कर सकेंगे

मध्य प्रदेश नगरीय निकाय चुनाव में महापौर के लिए चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के लिए भी चुनावी खर्च की नई गाइडलाइन तय की गई है. इसके तहत 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले नगर निगम में महापौर पद का चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार 35 लाख रुपये तक खर्च कर पाएंगे. वहीं, 10 लाख से कम आबादी वाले नगर निगम में महापौर पद का चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार अधिकतम 15 लाख रुपये खर्च कर पाएंगे. इनको अपने चुनावी खर्च का ब्यौरा निर्धारित प्रारूप के साथ निर्वाचन कार्यालय में जमा कराना होगा.

जानिए कहां कितना खर्च कर पाएंगे पार्षद उम्मीदवार

  •  10 लाख आबादी वाले निकाय में पार्षद उम्मीदवार अधिकतम 8 लाख 75 हजार रुपये
  • 10 लाख से कम आबादी वाले निकाय में पार्षद उम्मीदवार 3 लाख 75 हजार रुपये

नगर पालिका में इस तरह होगा पार्षद उम्मीदवार का चुनावी खर्च

  •  एक लाख से ज्यादा आबादी वाले निकाय के चुनाव में ढाई लाख रुपये
  •  50 हजार से एक लाख जनसंख्या वाले निकाय में डेढ़ लाख रुपये
  • 50 हजार से कम आबादी वाले निकायों में एक लाख रुपये
  • नगर परिषद के पार्षद उम्मीदवार के लिए अधिकतम चुनावी खर्च 75 हजार रुपये

Tags: Gwalior news, Mp news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें