चश्मे के कवर में स्मैक रखकर जेल में ले जा रहा था प्रहरी, सीसीटीवी से पकड़ा गया

पूरा वाकया सीसीटीवी कैमरे में क़ैद हो गया. इसके बाद प्रहरी को निलंबित कर दिया गया. एडीजी जेल गाजीराम मीना ने भी जेल में हुए इस वाकये की जानकारी जेल अधीक्षक से ली और इसकी जांच के आदेश दिए.

Sushil Koushik | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 6, 2018, 11:11 PM IST
चश्मे के कवर में स्मैक रखकर जेल में ले जा रहा था प्रहरी, सीसीटीवी से पकड़ा गया
ग्वालियर जेल
Sushil Koushik | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 6, 2018, 11:11 PM IST
दावे चाहें कितने भी किए जाएं कि जेलों में सुरक्षा बंदोबस्त पुख़्ता हैं लेकिन इसकी पोल खुलती ही रहती है. ग्वालियर में किसी बाहरी बदमाश या जेल में बंद क़ैदी ने सुरक्षा में सेंध नहीं लगाई बल्कि यहां के प्रहरी ने ही सबको धता बताने की कोशिश की.

ग्वालियर सेंट्रल जेल का एक प्रहरी स्मैक अंदर ले जाते पकड़ा गया है जिसका नाम शिवचरण शर्मा है. वह शातिराना तरीके से स्मैक जेल के अंदर ले जा रहा था. शिवचरण ने स्मैक की पुड़िया अपने चश्मे के कवर में छुपा रखी थी.

उसने सोचा प्रहरी होने के कारण कोई उसकी तलाशी नहीं लेगा, लेकिन गेट पर तैनात हलवदार ने शिवचरण को रोक लिया. तलाशी ली तो उसके पास स्मैक की पुड़िया निकली. हवलदार ने जब उससे पुड़िया ज़ब्त करनी चाही तो शिवचरण ने उससे झूमा-झटकी की और धक्का देकर गिरा दिया.

ये पूरा वाकया सीसीटीवी कैमरे में क़ैद हो गया. इसके बाद प्रहरी को निलंबित कर दिया गया. एडीजी जेल गाजीराम मीना ने भी जेल में हुए इस वाकये की जानकारी जेल अधीक्षक से ली है और इसकी जांच के आदेश दिए हैं. शिवचरण शर्मा करीब दो साल से ग्वालियर सेंट्रल जेल में तैनात था. वह पहले भी अनुशासनहीनता कर चुका है.

ये भी पढ़ें -
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->