संदीप अग्रवाल हत्याकांड के आरोपी को गर्लफ्रेंड के साथ मसूरी घुमाने वाले 7 पुलिसकर्मी सस्पेंड

Sushil Koushik | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 6, 2019, 1:30 PM IST
संदीप अग्रवाल हत्याकांड के आरोपी को गर्लफ्रेंड के साथ मसूरी घुमाने वाले 7 पुलिसकर्मी सस्पेंड
रोहित सेठी को ग्वालियर पुलिस ने मसूरी की सैर करायी

रोहित का केबल कारोबार को लेकर संदीप से 19 करोड़ का लेनदेन था. उसी विवाद में रोहित ने संदीप की हत्या कराई थी.

  • Share this:
इंदौर. बहुचर्चित संदीप अग्रवाल हत्याकांड (Sandip Agrawal Murder Case) के मास्टरमाइंड रोहित सेठी को ग्वालियर पुलिस (Gwalior Police)अय्याशी करवा रही थी. पुलिस ने न सिर्फ उसे लग्जरी कार दी बल्कि गर्लफ्रेंड के साथ मसूरी भी घुमाया. मामला सामने आने पर पुलिस अधीक्षक (एसपी) ने सात पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया है.

लापरवाही के आरोप में 7 पुलिसकर्मी सस्पेंड
ग्वालियर एसपी ने सात पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है. ये सभी इंदौर के तेल कारोबारी संदीप अग्रवाल हत्याकांड के आरोपी रोहित सेठी को सैर करा रहे थे. यह मामला 16 जून का है. हवलदार त्र्यंबकराव, सिपाही एडविन, संजय और अमित की ड्यूटी रोहित सेठी को एक पेशी पर देहरादून जाने के लिए लगी थी. पुलिस रजिस्टर में इनकी रवानगी दर्ज हो गई. वॉरंट भी बन गया. उसके मुताबिक सभी को ट्रेन से जाना था, लेकिन ये लोग ट्रेन से ना जाकर रोहित के खर्चे पर कार से रवाना हुए. कार का नंबर एमपी07 सीएफ 4020 था. इसी कार से ये सब लोग उत्तराखंड की राजधानी देहरादून गए.

रोहित सेठी इंदौर के तेल और केबल कारोबारी संदीप अग्रवाल की हत्या का आरोपी है


पेशी के लिए निजी कार का इस्तेमाल
इनमें से सिपाही अमित पेशी पर गया नहीं. पेशी के बाद पुलिसवाले आरोपी रोहित सेठी को लेकर ग्वालियर नहीं लौटे. बल्कि वो मसूरी के होटल चिमनी हाउस के रूम नंबर ए 2, बी 2 में रुके. रोहित की गर्लफ्रेंड आस्मा को भी इसी होटल में रुकवाया गया. 18 जून को वापस आते समय इन लोगों का होटल के स्टाफ से झगड़ा हो गया. होटल स्टाफ को फर्जी पुलिस होने का शक हुआ तो उसने लोकल पुलिस से इसकी शिकायत की.

रोहित सेठी का संदीप अघ्रवाल से 19 करोड़ के लेन-देन पर विवाद था

Loading...

होटल स्टाफ से लड़ाई
रास्ते में रोहित सेठी और पुलिस की गाड़ी को उत्तराखंड पुलिस ने चेकपोस्ट पर रुकवायी तो उसमें सवार पुलिसकर्मियों ने आरआई देवेंद्र यादव से एसआई की बात कराई. उसके बाद यह गाड़ी छोड़ दी गई. इस हरकत को आरआई ने वरिष्ठ अधिकारियों से छिपाया. 8 जुलाई को फिर से हवलदार त्र्यंबकराव, सिपाही संजय, जितेन्द्र आरोपी रोहित को पेशी पर ले गए. इस बार भी निजी गाड़ी इस्तेमाल की गयी. जब बात एसपी तक पहुंची तो उन्होंने जांच के आदेश दिए. बात की पुष्टि होने पर उन्होंने इस केस में शामिल पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया.



संदीप अग्रवाल हत्याकांड का आरोपी
बता दें कि तेल और केबल कारोबारी संदीप अग्रवाल की 16 जनवरी, 2019 को सरेआम सड़क पर गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इंदौर पुलिस ने इसमें गैंगस्टर सुधाकर राव मराठा और उसके साथियों को गिरफ्तार किया था. गैंगस्टर सुधाकर राव ने खुलासा किया था कि उसे संदीप की हत्या की सुपारी उसके ही पार्टनर रोहित सेठी ने दी थी. रोहित का केबल कारोबार को लेकर संदीप से 19 करोड़ का लेनदेन था. उसी विवाद में रोहित ने संदीप की हत्या कराई थी.

इंदौर पुलिस ने रोहित को देहरादून से गिरफ्तार किया था. बीते जून में रोहित सेठी को इंदौर से ग्वालियर जेल शिफ्ट किया गया था. इसके बाद ग्वालियर के पुलिसकर्मी उसे देहरादून पेशी पर ले जाते थे. सुरक्षा को ताक पर रखकर पुलिसकर्मी उसे निजी वाहन से देहरादून ले गए. यहां नियमों का उल्लंघन करते हुए पुलिसवालों ने आरोपी को निजी होटल में रुकवाया और उसे अय्याशी कराई. इसके एवज में 'रोहित ने पुलिसकर्मियों को आलीशान होटल में रुकने से लेकर शराब और रुपए तक का इंतजाम कराया. ​

ये भी पढ़ें- एक चीनी Prisoner of war की कहानी, जिसने भारत को बनाया अपना घर और अब....

सरदार सरोवर बांध डूब प्रभावित ने नर्मदा में लगायी छलांग, NDRF की टीम ने बचाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 10:39 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...