टीआई साहब विधायक पाठक बोल रहा हूं... जब सच सामने आया तो पुलिस के उड़े होश!

विधायक प्रवीण पाठक नाम से टीआई को फोन करने वाला ठेकेदार गिरफ्तार.

ग्वालियर में हथियार लाइसेंस बनवाने के लिए जालसाजी का एक सनसनीखेज मामला सामने आए आया है, जिसमें हथियार लाइसेंस की चाहत रखने वाले ने खुद को कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक (Praveen Pathak) बताकर थाना प्रभारी को फोन किया. फिर जब वह पुलिस के सामने आया तो जेल पहुंच गया.

  • Share this:
ग्वालियर. ग्वालियर में हथियार लाइसेंस बनवाने के लिए लोग जालसाजी करने से भी नहीं चूकते हैं. हाल ही में ऐसा ही एक मामला सामने आए आया है, जिसमें हथियार लाइसेंस की चाहत रखने वाले एक ठेकेदार ने खुद को कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक (Praveen Pathak) बताकर थाना प्रभारी (Police Station Incharge) को फोन लगाया और फाइल जल्द पास कराने की मांग की. हालांकि बार-बार फोन करने से टीआई को शक हुआ और फिर पुलिस ने जालसाज ठेकेदार को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है.

टीआई साहब विधायक पाठक बोल रहा हूं...
महाराज पुरा थाना प्रभारी आसिफ मिर्जा बेग के पास 8 जनवरी को मोबाइल पर एक कॉल आया. कॉल करने वाले ने खुद को दक्षिण विधानसभा का विधायक प्रवीण पाठक बताते हुए कहा कि उनके कार्यकर्ता सत्यभान सिंह गुर्जर ने हथियार लाइसेंस के लिए कलेक्टर के पास आवेदन किया है, उसकी फाइल वैरीफिकेशन के लिए आपके पास पहुंची है. सत्यभान की फाइल को चरित्र सत्यापन के साथ स्वीकृत करना है. टीआई ने समझा कि ये विधायक का ही कॉल है, लिहाजा उन्होंने एक-दो दिन में फाइल तैयार करने की बात कहकर फोन काट दिया. अगले दिन फिर उसी नंबर से कॉल आया तो टीआई को शक हुआ, लिहाजा टीआई ने विधायक का नंबर लेकर उन्हें कॉल किया. विधायक से जब बात हुई तो पता लगा कि विधायक ने उन्हें फोन ही नहीं किया. इसके बाद टीआई ने सत्यभान की फाइल को कैंसल कर एसपी ऑफिस भेज दिया.

टीआई ने थाने बुलाकर सलाखों के पीछे पहुंचाया
सोमवार की शाम को उसी नंबर से फिर कॉल आया तो टीआई ने कहा कि विधायक जी आप कार्यकर्ता सत्यभान को थाने पर भेज दीजिए, हम उनके सामने ही फाइल का वैरीफिकेशन कर देंगे और उनके हाथों ही फाइल एसपी ऑफिस भेज देंगे. टीआई से बात होने के कुछ देर बाद सत्यभान सिंह गुर्जर खुद थाने पहुंच गया. उसने टीआई से कहा कि मुझे विधायक प्रवीण पाठक ने भेजा है, इतना सुनते ही टीआई ने उसके सामने विधायक को फोन लगाया. विधायक को फोन लगाने से पहले ही सत्यभान घबरा गया और अपनी जालसाजी कबूल कर ली. महाराज पुरा थाना प्रभारी बेग ने बताया कि आरोपी सत्यभान सिंह गुर्जर निवासी अटल नगर किराए पर ट्रैक्टर चलवाता है और ठेकेदारी करता है. पुलिस यह पता लगा रही है कि उसने विधायक के नाम का उपयोग और कहां किया है.

ट्रू कॉलर पर विधायक के नाम से तैयार की प्रोफाइल
पुलिस गिरफ्त में आया सत्यभान गुर्जर शातिर किस्म का जालसाज है और वो शातिराना अंदाज में विधायक प्रवीण पाठक के नाम का इस्तेमाल करता था. उसने ट्रू कॉलर पर प्रवीण पाठक नाम से प्रोफाइल बनाई थी, लिहाजा जिसके पास सत्यभान का नंबर सेव नहीं होता था. उसके मोबाइल पर ट्रू कॉलर में सत्यभान की जगह नाम प्रवीण पाठक स्क्रीन पर दिखता था. फोन करने के बाद सत्यभान इस मोबाइल सिम को बंद रखता था, जब काम होता तो फिर चालू करता था.



ये भी पढ़ें-

राजगढ़ कलेक्टर के थप्पड़ पर भड़की सियासी 'आग', केंद्रीय मंत्री ने कही ये बात



...जब दूल्हे ने लगाई 11 किमी तक दौड़ और उसके पीछे-पीछे भागे 50 बाराती

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.