शंकराचार्य का साध्वी पर वार-गोडसे को राष्ट्रभक्त बताने वाले हिंदू नहीं
Gwalior News in Hindi

शंकराचार्य का साध्वी पर वार-गोडसे को राष्ट्रभक्त बताने वाले हिंदू नहीं
शंकराचार्य स्वरूपानंद

शंकराचार्य ने कहा कि सनातन धर्म में निहत्‍थे पर वार नहीं किया जाता. उन्‍होंने ईवीएम की विश्‍वसनीयता पर भी सवाल उठाया.

  • Share this:
नाथूराम गोडसे और राष्ट्रवाद को लेकर छिड़े विवाद के बीच शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि जो गोडसे को राष्ट्रभक्त बताता है, वह हिंदू ही नहीं है. हिंदू धर्म में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है. शंकराचार्य ने EVM की विश्वसनीयता पर भी सवाल उठाए.

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद ने सीधे-सीधे प्रज्ञा ठाकुर पर हमला किया. उन्होंने कहा कि जो लोग गोडसे को राष्ट्रभक्त बताते हैं, वह हिंदू हो ही नहीं सकते. सनातन धर्म में कभी निहत्थे पर वार नहीं किया जाता. महात्मा गांधी ने कभी हथियार नहीं उठाया. शंकराचार्य ने कहा कि विचारों की लड़ाई विचार से लड़ना चाहिए, हथियार से नहीं.

भोपाल से सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने लोकसभा चुनाव कैंपेन के दौरान महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था. बाद में इंदौर से विधायक उषा ठाकुर ने भी ऐसा ही बयान दिया था. ग्वालियर आए शंकराचार्य ने शनिवार (1 जून) को नाम लिए बिना सीधे-सीधे प्रज्ञा ठाकुर के धर्म पर ही सवाल उठा दिया.



व्यक्ति नहीं मुद्दे
शंकराचार्य ने यह भी कहा कि देश में अब चुनाव व्यक्ति के बजाए मुद्दों के आधार पर होना चाहिए. नरेंद्र मोदी या राहुल गांधी के नाम पर चुनाव लड़ने के बजाए मुद्दों के आधार पर चुनाव होना चाहिए. शंकराचार्य ने कहा कि पार्टियों को अपने घोषणा पत्र के आधार पर चुनाव लड़ना चाहिए.

EVM पर संदेह

स्वामी स्वरूपानंद ने ईवीएम की विश्वसनीयता पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि जब देश के बहुत सारे राजनीतिक दल ईवीएम पर शंका कर रहे हैं, तो चुनाव आयोग बैलेट पेपर से चुनाव क्यों नहीं कराता है. मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार गिराने की लगातार धमकी के बीच शंकराचार्य ने कहा चुनी हुई सरकार को प्रलोभन देकर गिराना अनैतिक है.

ये भी पढ़ें-

मध्य प्रदेश में अब मास्टर साहब को भी देना होगी परीक्षा, फेल हुए तो आउट

मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार भी वही करेगी जो दिग्विजय सिंह ने किया था

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज