Jabalpur: डेढ़ साल की मासूम दीपाली को देर तक नोंचते रहे आवारा कुत्ते, हार गई जिंदगी

जबलपुर में डेढ़ साल की मासूम को कुत्तों ने नोच डाला. (file)

जबलपुर में डेढ़ साल की मासूम को कुत्तों ने नोच डाला. (file)

जबलपुर के कठौंदा में आवारा कुत्तों ने डेढ़ साल की मासूम दीपाली को नोंच डाला. उसे आनन-फानन में अस्पताल ले गए. लेकिन मौत के सामने जिंदगी हार गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 15, 2021, 4:18 PM IST
  • Share this:

जबलपुर. जबलपुर से बुरी खबर है. जिले के कठौंदा में जिस डेढ़ साल की मासूम बच्ची दीपाली को आवारा कुत्तों ने नोंचा था उसकी मौत हो गई. कठौंदा में दीपाली घर के बाहर खेल रही थी, तब कुछ आवारा कुत्तों ने अचानक उस पर हमला कर दिया था. उसकी चीख सुनकर काम रही मां ने बाहर आकर देखा तो मासूम खून से लथ-पथ पड़ी थी.मामले को लेकर कमल पटेल ने जांच करने की बात कही है.

जानकारी के मुताबिक, घरवाले उसे जैसे-तैसे एक हॉस्पिटल ले गए. लेकिन, मौत के आगे जिंदगी हार गई. बच्ची की मौत के बाद परिवार और पड़ोस में मातम पसरा हुआ है. बच्ची की मौत पर परिजनों का कहना है कि ये सब प्रशासन की लापरवाही से हुआ है.

प्रशासन की वजह से ये हरकतें कर रहे कुत्ते- परिजन

घरवालों का कहना है कि यहां कुत्ते प्रशासन की वजह से हिंसक हो गए हैं. क्योंकि, यहां दिन भर मृत जानवरों की चमड़ी उतारी जाती है. यही खा-खाकर कुत्ते जबरदस्त हिंसक बनते जा रहे हैं. ये छोटे तो छोटे बड़ों पर भी हमला करने से नहीं हिचकते.
नसबंदी की कुत्तों के हिंसक होने का एक कारण

बच्ची के माता-पिता ने यह भी कहा कि नगर-नगर  निगम पूरे शहर के कुत्ते लाकर कठौंदा में छोड़ रहा है. इसकी वजह से यहां इनकी संख्या में लगातार बढ़ती जा रही है. दूसरी ओर, कुत्तों की नसबंदी भी की जा रही है, जिससे वे और ज्यादा हिंसक हो गए हैं.

कमल पटेल ने कहा- जिम्मेदारों पर करेंगे कार्रवाई



दीपाली के मौत के मामले पर जिले के प्रभारी मंत्री कमल पटेल ने गम्भीरता दिखाई है. उन्होंने कहा है कि मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं. ज़िम्मेदार अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्यवाही की जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज