Home /News /madhya-pradesh /

सास-ससुर ने बहू के लिए उठाया अनूठा कदम, बेटे की मौत के बाद देवर से करवा दी शादी

सास-ससुर ने बहू के लिए उठाया अनूठा कदम, बेटे की मौत के बाद देवर से करवा दी शादी

Sapna weds Manoj: शिवपुरी में सास-ससुर ने विधवा बहू की देवर से शादी कराकर समाज में बदलाव के संकेत दिए हैं.

Sapna weds Manoj: शिवपुरी में सास-ससुर ने विधवा बहू की देवर से शादी कराकर समाज में बदलाव के संकेत दिए हैं.

Widow Bhabhi married to Devar Unique Wedding: शिवपुरी में सास-ससुर ने अनूठी पहल करते हुए पूरे परिवार की रजामंदी से विधवा बहू की शादी देवर यानी अपने छोटे बेटे से करा दी. इस शादी से जहां पति खो चुकी बहू सपना को नया हमसफर मिल गया, वहीं उसकी 5 माह की बेटी को नए पिता मिल गए. दरअसल, राजस्थान की सपना की शादी शिवपुरी के सूरज से 2018 में हुई थी. कोरोना काल में सूरज की मौत हो गई. बेटे की मौत के बाद विधवा बहू और बच्ची को देखकर सास-ससुर बिलख उठते थे. उन्होंने अपने छोटे बेटे से बहू की शादी करा दी. महीनों बाद चौधरी परिवार में खुशियां दोबारा लौट आईं. सास-ससुर की इस पहल की सभी तारीफ कर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

ग्वालियर/शिवपुरी. कोरोना ने पांच माह की बेटी आरू के सिर से पिता का साया छीन  लिया था, लेकिन 8 महीने बाद पहले जन्मदिन के मौके पर आरु को पिता का साथ मिल गया. दादा-दादी ने जिद की और आरु की मां सपना ने देवर से शादी कर ली. इस शादी से दादा-दादी भी खुश हैं कि बड़े बेटे की मौत के बाद उनकी बहू और पोती को न सिर्फ खुशियां मिल गई, बल्कि वो अब जिंदगी भर उनके साथ घर मे रहेंगी. सास-ससुर की इस पहल की सभी तारीफ कर रहे हैं.

गौरतलब है कि शिवपुरी के नवाब साहब रोड निवासी अशोक चौधरी के बेटे सूरज की शादी साल 2018 में फतेहपुर सीकरी की रहने वाली सपना चौधरी के साथ हुई थी. सूरज और सपना के घर में पहली संतान के रूप में बेटी का जन्म हुआ, जिसका नाम आरू उर्फ जीविका रखा गया. इसी साल अप्रैल में सूरज को कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया. काफी इलाज कराने के बावजूद सूरज की जिंदगी नहीं बच पाई. कोरोना के चलते उसकी मौत हो गई. बेटे की मौत से पिता अशोक चौधरी पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा. सूरज के भाई मनोज चौधरी को भी भारी सदमा लगा. बहू सपना की तो पूरी  दुनिया ही उजड़ गई. बहू सपना का दुखी चेहरा देख दादा ससुर सरदार सिंह चौधरी और सास-ससुर की रूह कांप जाती थी, सभी को सपना और उसकी मासूम बच्ची की जिंदगी की फिक्र होने लगी.

बुजुर्गों की नई सोच जिंदगी में भर दी खुशियां

पति की मौत के बाद सपना के मायके को भी उसकी चिंता था. लिहाजा, उन्होंने सपना के दूसरे विवाह का मन बनाया. सपना के मायके ने जब ससुराल वालों से बात की तो सूरज के पिता ने कहा-  हम अपना बेटा खो चुके हैं. लेकिन, अब बहू और पोती खोना नहीं चाहते. आखिर में तय किया गया कि सूरज के छोटे भाई मनोज से सपना की शादी कराई जाए. माता-पिता की जिद के चलते मनोज और सपना ने भी हामी भर दी. आखिर पोती आरु के पहले जन्मदिन के मौके पर सपना और मनोज की शादी की गई. इस शादी से सपना,आरु की जिंदगी खुशहाल हो गई. वहीं, दादी- दादी को भी बहू और पौती का साथ मिल गया. 6 महीने पहले जिस घर मे मातम था आज वो खुशियों से चहक रहा है. इस पहल और रिश्ते की हर कोई तारीफ कर रहा है, ये पहल समाज मे नया बदलाव का संकेत है.

Tags: Gwalior news, Mp news, Shivpuri News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर