होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Wildlife News : पहली बार इन शावकों ने दुनिया देखी, आप भी रख सकते हैं इनका नाम, अगले महीने होगा नामकरण

Wildlife News : पहली बार इन शावकों ने दुनिया देखी, आप भी रख सकते हैं इनका नाम, अगले महीने होगा नामकरण

Wildlife News. ग्वालियर चिड़ियाघर में शेरनी परी ने 31 अक्टूबर को इन शावकों को जन्म दिया था.

Wildlife News. ग्वालियर चिड़ियाघर में शेरनी परी ने 31 अक्टूबर को इन शावकों को जन्म दिया था.

Gwalior Zoo : आज से नन्हे शावकों का दीदार रोजाना चिड़ियाघर में आने वाले सैलानी कर पाएंगे. अगले महीने शावकों का नामकरण क ...अधिक पढ़ें

ग्वालियर. ग्वालियर के चिड़ियाघर में आज जश्न का माहौल है. आज यहां शेर के तीन नन्हे  शावकों को पहली बार पिंजरे से बाड़े  में लाया गया. महीने भर पहले जन्मे इन तीनों शावकों की पहली झलक पाने के लिए चिड़ियाघर में सैलानियों का हुजूम उमड़ पड़ा. डॉक्टरों ने विधिवत चैकअप के बाद तीनों को बाड़े में छोड़ने की इजाजत दी. ग्वालियर चिड़ियाघर की सफेद बब्बर शेरनी परी ने 31 अक्टूबर की रात इन तीन शावकों को जन्म दिया था.

ग्वालियर के चिड़ियाघर में  बुधवार को जश्न ही जश्न था. यहां की शेरनी परी के तीन शावकों को आज पहली बार पिंजरे से खुले बाड़े में लाया गया. 31 अक्टूबर को परी ने तीन शावकों को जन्म दिया था। जन्म के बाद से ही ये शावक पिंजरे के अंदर आइसोलेशन में थे. महीने भर तक डॉक्टरों की निगरानी के बाद आज  इन तीनों शावकों को पिंजरे से खुले बाड़े में लाया गया.

दो मादा और एक नर शावक
पहली बार खुली दुनियां के सामने आए इन शावकों को देखने के लिए चिड़ियाघर में सैलानियों का हुजूम उमड़ा था. नगर निगम कमिश्नर किशोर कन्याल की मौजूदगी में इन शावकों को बाड़े में छोड़ा गया. कमिश्नर ने बताया कि दो शावक फीमेल और एक शावक मेल है. तीनों को आज से बाड़े में छोड़ा जा रहा है. इन्हें मिलाकर अब ग्वालियर के चिड़ियाघर में शेरों की तादाद बढ़कर 8 हो गई है. आने वाले समय में इन तीनों शावकों के नाम रखने की प्रक्रिया होगी जिसमें शहर के बच्चों से इन बच्चों के लिए नाम मंगवाए जाएंगे.

ये भी पढ़ें- OMG : मुर्गे से परेशान हैं एक जाने माने कैंसर विशेषज्ञ, पुलिस थाने में कर दी शिकायत

सैलानियों का हुजूम
जैसे ही शावक पिंजरे से निकलकर खुले बाड़े में आए तो यहां मौजूद नगर निगम के अधिकारी, सैलानी सहित बच्चों की खुशी का ठिकाना नहीं था. शेरनी परी के पीछे तीनों शावक पिंजरे से बाहर बाड़े में आए. बाड़े में आने के साथ ही इन तीनों शावकों ने पूरे इलाके में उछल कूद शुरू कर दी. शावकों ने पिंजरे से निकलते ही अचरज भरे अंदाज में पहली बार दुनिया को देखा. पल भर में ही वो ऐसे घुल मिल गए जैसे बरसों से वो यहां रह रहे हों. और देखते ही देखते अपनी मां के पीछे पीछे उछलकूद शुरू कर दी.

अगले महीने नामकरण समारोह
आज से नन्हे शावकों का दीदार रोजाना चिड़ियाघर में आने वाले सैलानी कर पाएंगे. अगले महीने शावकों का नामकरण किया जाएगा. नाम का सुझाव आप भी दे सकते हैं. ग्वालियर के चिड़ियाघर में सफेद शेरनी परी ने दूसरी बार शावकों को जन्म दिया है. परी और नर शेर जय की जोड़ी ने तीन शावकों को जन्म दिया है. परी को 2012 में बिलासपुर के कानन पेंडारी जू से ग्वालियर लाया गया था. नर शेर जय को रायपुर के नंदनवन चिड़ियाघर से ग्वालियर लाया गया था

Tags: Gwalior news, Lion, Madhya pradesh latest news, Wildlife news in hindi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें