होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

MP: महेश्वर का व्यापारी परिवार सहित लापता, हंडिया में नर्मदा किनारे मिली कार

MP: महेश्वर का व्यापारी परिवार सहित लापता, हंडिया में नर्मदा किनारे मिली कार

महेश्वर का व्यापारी परिवार सहित तीन दिन से लापता

महेश्वर का व्यापारी परिवार सहित तीन दिन से लापता

पिता मोहनलाल कुमरावत का कहना है 16 तारीख को शाम 7.30 बजे उनकी अमित से बात हुई थी. अमित को रात तक महेश्वर पहुंचना था. देर रात तक जब वो नहीं पहुंचे तो उन्होंने कई बार अमित और सुरभि के मोबाइल पर कॉल किए पर फोन रिसीव नहीं हुआ.

हरदा.महेश्वर का एक व्यापारी अपने परिवार सहित 3 दिन से लापता (missing) है. अमित कुमरावत नाम का ये व्यापारी 16 फरवरी को होशंगाबाद (hoshangabad) के सिवनी मालवा से अपनी पत्नी सुरभि और दो बच्चों के साथ महेश्वर के लिए निकला था. उनकी कार (car) हंडिया के पास नर्मदा नदी के किनारे मिली है. कार में पति-पत्नी दोनों के मोबाइल फोन और सारा सामान रखा मिला.

अमित कुमरावत अपनी पत्नी सुरभि, 7 साल की बेटी नोशी और 5 माह के बेटे विनायक के साथ 11 फरवरी को अपनी साली की शादी में शामिल होने सिवनी मालवा आए थे. 16 फरवरी को वो पत्नी सुरभि और दोनों बच्चों के साथ महेश्वर के लिए कार से रवाना हुए थे. रास्ते में वो टिमरनी में अपने एक रिश्तेदार मनोज राउत के घर रुके और शाम 5 बजे महेश्वर के लिए रवाना हो गए.

हंडिया में मिली कार
अमित टिमरनी से रवाना तो हुए लेकिन महेश्वर नहीं पहुंचे. देर रात तक उनकी कोई खबर ना मिलने पर परिवार ने पुलिस को जानकारी दी और फिर खोजबीन शुरू हुई. मोबाइल फोन के आधार पर अमित औऱ परिवार की लास्ट लोकेशन हरदा जिले के हंडिया में मिली. रिश्तेदारों ने जब हंडिया में तलाश की तो उनकी कार नर्मदा किनारे रिड्ढनाथ घाट पर खड़ी मिली. हंडिया पुलिस ने मंगलवार 18 फरवरी को देर शाम अमित, सुरभि और दोनों बच्चों की गुमशुदगी का मामला दर्ज किया.



शाम 7.30 पर हुई आख़िरी बार बात
पिता मोहनलाल कुमरावत का कहना है 16 तारीख को शाम 7.30 बजे उनकी अमित से बात हुई थी. अमित को रात तक महेश्वर पहुंचना था. देर रात तक जब वो नहीं पहुंचे तो उन्होंने कई बार अमित और सुरभि के मोबाइल पर कॉल किए, पर फोन रिसीव नहीं हुआ. पिता का कहना है उनके बेटे का किसी के साथ कोई विवाद नहीं था. व्यापार में भी ऐसा कोई घाटा नहीं था.



5 महीने पहले बेटा हुआ
अमित कुमरावत महेश्वर के प्रतिष्ठित कुमरावत परिवार से हैं. उनका खरगोन जिले के करहि में बाइक का शोरूम है. उनके पिता मोहनलाल का महेश्वर में होटल है. दो भाइयों में सबसे बड़े अमित की शादी सिवनी मालवा में सुरभि से हुई थी. 7 साल की बेटी के बाद पांच महीने पहले ही सितंबर में अमित के घर बेटे का जन्म हुआ था. अमित की ताईजी पार्वती कुमरावत महेश्वर की पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष हैं. परिवार का कहना है कि अमित का ना तो किसी से विवाद था और न ही व्यापार में घाटा या पारिवारिक कलह. फिर अमित परिवार सहित कहां चले गए.

हर पहलू की जांच
हरदा जिले के हंडिया थाना प्रभारी ने बताया कि रात में ही इस मामले की जानकारी लगी है. कार नर्मदा किनारे रिद्धनाथ घाट पर खड़ी मिली है. मामले को लेकर आसपास पूछताछ की गई. इसमें एक दुकानदार ने बताया कि 17 फरवरी को शाम 5 बजे यहां पर कार खड़ी कर कोई शख्स बस से रवाना हुआ था. थाना प्रभारी ने कहा कि पूछताछ में यह पता चला है कि अमित के शोरूम की स्थिति खराब है. व्यापार भी ठीक नहीं चल रहा था. हंडिया थाना पुलिस अब कर्ज, मोबाइल डिटेल से लेकर बैंक स्टेटमेंट तक की पड़ताल कर हर पहलू की जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें -

कमलनाथ सरकार आज ला रही है नई शराब नीति, भोपाल में नए अंदाज में नजर आएंगे IPS अफसर

Tags: Harda news, Madhya pradesh news, Police investigation

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर