लाइव टीवी

‘ड्रीम गर्ल’ संजना की पहेली में उलझा जोधपुर का युवक, लड़की की आवाज में ठगे 50 लाख रुपए
Harda News in Hindi

Praveen Singh Tanwar | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 17, 2019, 8:08 PM IST
‘ड्रीम गर्ल’ संजना की पहेली में उलझा जोधपुर का युवक, लड़की की आवाज में ठगे 50 लाख रुपए
फेसबुक पर फेक आईडी से चीटिंग

फेसबुक से शुरू हुई बातचीत के बाद युवक संजना के प्यार में ऐसा दीवाना हुआ कि दो सालों तक उसकी बातों में आकर 50 लाख रुपए लुटवा दिए.

  • Share this:
हरदा. फिल्म 'ड्रीम गर्ल' (dream girl) में आयुष्मन खुराना को लड़की की आवाज से सैकड़ों लोगों को अपने प्यार में दीवाना बनाते देखा होगा, लेकिन जोधपुर (jodhpur) के एक युवक के साथ रियल ड्रीम गर्ल ने सोशल मीडिया(social media) पर ऐसा दीवाना बनाया कि उसके साथ 50 लाख की ठगी (fraud) कर ली. हैरानी की बात यह है की दो साल से शतिर ठग संजना बनकर युवक से फोन पर प्यार भरी बातें कर रहा था. मामला खुलने के बाद भी युवक को संजना याद आ रही है. युवक ने संजना से शादी करने के लिए देशभर के कई मंदिरो में दर्शन व पाठ- पूजा करवाई, लेकिन अब प्यार का वहम टूटा तो संजना बनने वाला युवक सलाखों के पीछे पहुंच गया है.

फेसबुक पर दोनों में शुरू हुई  बातचीत

जोधपुर के सीएचबी पुलिस ने ठगी के मामले में एक ऐसे युवक को गिरफ्तार (arrest) किया है, जो पिछले दो सालों से संजना बनकर जोधपुर के एक युवक से प्यार भरी बात कर रहा था. फेसबुक से शुरू हुई बातचीत के बाद युवक संजना के प्यार में ऐसा दीवाना हुआ कि दो सालों तक उसकी बातों में आकर 50 लाख रुपए लुटवा दिए.

नेता का बेटा है सिद्धार्थ

कहानी शुरू होती है हरदा के भंवरताल गांव से. यहां रहने वाले युवक सिद्धार्थ पटेल ने फेसबुक पर अपनी फेक पहचान संजना बनकर जोधपुर के लुब्रिकेंट ऑयल कारोबारी रवि इनाणिया से दोस्ती की. सिलसिला आगे बढ़ा तो उसने लड़की की आवाज़ बनाकर रवि से फोन पर बातचीत शुरू कर दी. इस दौरान सिद्धार्थ ने रवि से लाखों रुपए खर्च करवा दिए. जब रवि को संजना नहीं मिली तो उसने जोधपुर के चोपासनी हाऊसिंग बोर्ड पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया और पुलिस ने सिद्धार्थ को गिरफ़्तार कर लिया. सिद्धार्थ के पिता महेश पटेल संपन्न किसान और कांग्रेस नेता हैं. सिद्धार्थ पटेल को जोधपुर की चोपासनी थाना पुलिस ने ठगी के मामले में गिरफ्तार किया.

बचपन के शौक ने पहुंचाया जेल
असल जिंदगी में बचपन से अलग-अलग आवाज निकालकर अपने दोस्तों के बीच मनोरंजन करने वाला सिद्धार्थ पटेल कैसे अपराध की दुनिया में आ गया इसकी कहानी भी हैरान करने वाली है. सिद्धार्थ ने तीन साल पहले 12 जुलाई 2017 को संजना गोदारा के नाम से फेसबुक पर जोधपुर के कारोबारी युवक रवि इनाणिया से दोस्ती की. उसने खुद को दिल्ली की रहने वाली बताया था.

पहला मैसेज
ग्रामीण परिवेश में पले बढ़े सिद्धार्थ ने रवि इनाणिया को 12 जुलाई 2017 को फेसबुक मेसेंजर के जरिए पहला मैसेज hi (हाय ) का किया. रवि को भी नहीं मालूम था की दो अक्षरों से शुरू हुई दोस्ती उसे ठग लेगी. दस दिन बाद रवि ने संजना के मैसेज का जवाब दिया. 23 जुलाई 2017 से रवि और संजना के बीच फेसबुक पर बात होना शुरू हो गयी. सिद्धार्थ उर्फ संजना ने रवि को बताया था कि उसकी मां का देहांत हो चुका है. उसकी सौतेली मां और सौतेला भाई सिद्धार्थ पटेल है. सिद्धार्थ ने अलग-अलग नंबरों से संजना का भाई, पिता, सौतेली माँ,बुआ और मौसी बनकर रवि से बात की. रवि तब तक संजना के प्यार में डूब चुका था. उसे अहसास ही नहीं हुआ कि वो किसी लड़के के चक्कर में पड़ चुका है.

संजना के लिए 3 बार नर्मदा परिक्रमा
ढाई साल के दौरान सिद्धार्थ के कहने पर रवि कई बार हरदा भी आया. लेकिन चालाक सिद्धार्थ ने उसे कथित संजना से नहीं मिलने दिया. सिद्धार्थ रवि से हमेशा संजना का भाई बनकर मिला. सिद्धार्थ ने रवि को झांसा दिया कि संजना परेशान रहती है. हंडिया में एक आश्रम है वहा संजना के मंगलग्रह की शांति के लिए पाठ करवाना है. दस हजार रूपए लगेंगे. रवि ने तुरंत ही यह रुपए सिद्धार्थ को दे दिए. जब रवि ने फोन पर संजना से शादी की बात की तो संजना (सिद्धार्थ ) ने अपनी राशि में मंगल दोष बताया. अब संजना उर्फ सिद्धार्थ ने रवि से नर्मदा यात्रा करने की बात कही. रवि इसके लिए भी तैयार हो गया और 3 बार 7800 किलोमीटर की नर्मदा यात्रा भी कर ली.

ढाई साल का सिलसिला
ये सिलसिला ढाई साल चला. रवि के पैसे पर सिद्धार्थ जगह-जगह घूमा. लाखों रुपए खर्च करने के बाद भी जब सिद्धार्थ ने संजना से नहीं मिलाया तो आखिरकार रवि इनाणिया ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी. उस शिकायत के आधार पर चोपासनी थाना पुलिस ने जोधपुर से सिद्धार्थ को गिरफ्तार कर लिया.  चोपासनी पुलिस स्टेशन के थाना अधिकारी आनंद सिंह ने न्यूज़ 18 को बताया कि मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस ने सिद्धार्थ की लोकेशन ट्रेस कर उसे गिरफ्तार किया. उसे धारा 420, 384,120 B और आईटी एक्ट की धाराओं में गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने आरोपी सिद्धार्थ पटेल को कोर्ट में पेश किया जहां उसे सात दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया.

ये भी पढ़ें-पूर्व PM डॉ मनमोहन सिंह ने जारी किया कमलनाथ सरकार का 'विजन टू डिलेवरी रोड मैप'

दिवंगत लोगों को श्रद्धांजलि के बाद विधानसभा की कार्यवाही बुधवार तक स्थगित

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हरदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 17, 2019, 7:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर