लाइव टीवी

'हरदा भुआणा उत्सव' के लिए कलेक्‍टर की अनोखी पहल, ऐसे आम लोगों को दे रहे हैं आमंत्रण
Harda News in Hindi

Praveen Singh Tanwar | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 7, 2020, 6:37 PM IST
'हरदा भुआणा उत्सव' के लिए कलेक्‍टर की अनोखी पहल, ऐसे आम लोगों को दे रहे हैं आमंत्रण
हरदा भुआणा उत्सव के लिए कलेक्‍टर ने लोगों को आमंत्रण दिया.

'हरदा भुआणा उत्सव' (Harda Bhuana Utsav) से आमजन को जोड़ने के लिए कलेक्टर एस विश्वनाथन (S Vishwanathan) ने खास पहल की है. वह लोगों को पीले चावल देकर सपरिवार उत्सव में शामिल होने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं.

  • Share this:
हरदा. मध्‍य प्रदेश के हरदा जिले (Harda District) में आयोजित होने वाले 'हरदा भुआणा उत्सव' (Harda Bhuana Utsav) से आमजन को जोड़ने के लिए कलेक्टर एस विश्वनाथन (S Vishwanathan) ने खास पहल की है. जी हां, आज कलेक्टर शहर के रहवासी इलाकों में पहुंचे और लोगों को पीले चावल देकर सपरिवार उत्सव में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया. जबकि आम लोगों ने भी कलेक्टर के आमंत्रण को स्वीकार कर उत्सव में शामिल होने का भरोसा दिलाया है.

पीले चावल देकर किया आमंत्रित
हरदा के कलेक्टर अधिकारियों के साथ 'हरदा भुआणा उत्सव' में शामिल होने के लिए शहर के लोगों को पीले चावल देकर आमंत्रित कर रहे हैं. पुराने समय में घर में शादी ब्याह या शुभ कार्य होने पर पीले चावल देकर आमंत्रण देने की परम्परा रही है. इसी परम्परा को आगे बढ़ाकर कलेक्टर ने लोगों को उत्सव से जोड़ने के लिए यह अनोखी पहल की है. जिले में भुआणा उत्सव 13 जनवरी से आयोजित होगा. भुआणा उत्सव की शुरुआत मकड़ाई की वादियों में होगी, जहां शुभारम्भ के साथ साहसिक खेल गतिविधिया और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे. 14 और 15 जनवरी का कार्यक्रम हंडिया के नर्मदा किनारे आयोजित होगा, जहां मकर संक्राति होने से पतंगबाजी, नाव दौड़ के साथ साथ देश के कई जाने माने कलाकार उत्सव प्रस्तुति देंगे. जबकि शहर के रहवासियों ने भी कलेक्टर की इस पहल की सराहना की है. शहर की रहवासी अंजना तिवारी ने न्यूज़ 18 से चर्चा में कहा कि जिले के सबसे बड़े अधिकारी आज उनके क्षेत्र में आये और घर की दहलीज पर पीले चावल देकर उन्हें भुआणा उत्सव में आने के लिए कहा. उन्हें बहुत खुशी हुई.

उत्सव को कमलनाथ सरकार ने शुरू किया

विगत 2011 में शुरू हुआ हरदा भुआणा उत्सव 2013 में बंद हो गया था. प्रदेश की पूर्व शिवराज सरकार के कार्यकाल में कई बार उत्सव को शुरू करने की पहल की गयी, लेकिन राजनीतिक कारणों से ऐसा हो नहीं पाया. जिले की लोक संस्कृति और पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देध्य से दोबारा उत्सव की शुरुआत 2020 में कमलनाथ सरकार द्वारा की गयी है. जिले की पहचान बन चुके हरदा भुआणा उत्सव के दोबारा शुरू होने से आमजन में भी उत्साह है.

उत्सव में दिखेगी सामाजिक समरसता
हरदा भुआणा उत्सव में सामाजिक समरसता और एकता की झलक भी दिखायी देगी. प्रशासन द्वारा उत्सव में समरसता खिचड़ी का वितरण किया जाएगा. समरसता खिचड़ी के लिए जिले के सभी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों से एक मुठ्ठी दाल और चावल एकत्र किये जा रहे हैं. 

कलेक्टर ने कही ये बात
जिले के कलेक्टर एस विश्वनाथन ने न्यूज़ 18 से चर्चा में कहा कि भारतीय परम्परा में शुभ कार्य के पहले पीले चावल देकर बुलाने की परम्परा है. उन्होंने इसी परम्परा का पालन कर कई रहवासी इलाकों में जाकर शहरवासियों को पीले चावल देकर हरदा भुआणा उत्सव में आमंत्रित किया है. कलेक्टर ने कहा कि यह उत्सव सात-आठ साल बाद आयोजित हो रहा है. उत्सव में कई खेल साहसिक और सांस्कृतिक गतिविधिया आयोजित होंगी. इस उत्सव के आयोजन मुख्य उदेश्य जिले के पर्यटन को देश और प्रदेश के नक्‍शे पर लाना है.

 

ये भी पढ़ें-

अब नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने दी कमलनाथ सरकार को धमकी...

 

हनीट्रैप केस: मंत्रियों के OSD की छुट्टी के बाद IAS की चिट्ठी वायरल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हरदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 7, 2020, 6:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर