हरदा : अवैध रूप से बनाए जा रहे पटाखे में विस्फोट, मकान की छत उड़ी, तीन लोगों की मौत

मध्य प्रदेश के हरदा में अवैध पटाखे बनाते वक्त हुआ विस्फोट. तीन की मौत. (सांकेतिक चित्र)

मध्य प्रदेश के हरदा में अवैध पटाखे बनाते वक्त हुआ विस्फोट. तीन की मौत. (सांकेतिक चित्र)

पुलिस थाने से महज कुछ ही दूरी पर अवैध रूप से बनाए जा रहे थे पटाखे. इसमें विस्फोट होने से एक ही परिवार के तीन व्यक्तियों की मौत हो गई. विस्फोट इतना भयंकर था कि मकान की छत उड़ गई.

  • Share this:

हरदा. कोरोना संक्रमण के कारण मध्य प्रदेश के हरदा में एक ओर शादी समारोह पर रोक लगी हुई है, वहीं दूसरी और हरदा में अवैध रूप से पटाखों का निर्माण किया जा रहा है. ऐसे ही अवैध निर्माण के दौरान हरदा के मगरधा रोड पर सोमवार को धमाका हो गया. धमाका इतना भयंकर था कि मकान की छत उड़ गई और पूरे मकान में आग लग गई. मौके पर पहुंची दमकल गाड़ियों ने आग पर काबू पाया है. इस हादसे में एक ही परिवार के तीन व्यक्तियों की मौत हो गई. मृतकों में एक युवती सहित दो बुजुर्ग महिलाएं शामिल हैं. मृतकों की पहचान विमलाबाई (60), शांताबाई (80) और पप्पी बेलदार (16) के रूप में की गई है. ये सभी लोग बिना अनुमति पटाखों का निर्माण कर रहे थे. मौके पर पहुंचे प्रशासन के अधिकारियो ने मृतकों के शवों को जिला अस्पताल पहुंचाया. एडीएम ने कहा की पूछताछ में पता चला है कि मकान में पटाखे बनाए जा रहे थे. सिविल लाइन थाना पुलिस ने मामला कायम कर जांच शुरू कर दी है.

पुलिस थाने से कुछ ही दूरी पर हुआ हादसा

हरदा के मगरधा रोड पर जहां हादसा हुआ है, वहां से सिविल लाइन थाने की दूरी महज 300 मीटर है. थाने के इतने करीब में अवैध पटाखे बनना काम चलता रहा और पुलिस को इसकी भनक भी नहीं लगी. हरदा जिले में पिछले वर्ष भी सिराली थाना क्षेत्र में पटाखों का निर्माण किया जा रहा था. पिछले साल हुए हादसे में एक आदिवासी युवक की मौत हो गई थी. हरदा जिले में अब तक इस तरह की घटनाओं में 10 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

पैसे के चक्कर में गंवा रहे जान
जिले में दो पटाखा व्यापारियों द्वारा बड़े पैमाने पर पटाखों का निर्माण करवाया जाता है. ये व्यापारी आसपास के गांवों में ग्रामीणों तो रुपयों का लालच देकर पटाखे बनवाते हैं. हादसे के बाद कार्रवाई इन व्यपारियों पर न होकर ग्रामीणों पर की जाती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज