कर्ज माफी नहीं तो वोट नहीं : दीवारों के जरिए शुरू हुआ अनोखा आंदोलन

असहयोग आंदोलन के नाम से पहले सोशल मीडिया पर शुरू हुआ यह आंदोलन अब गावों में फैल रहा है.
असहयोग आंदोलन के नाम से पहले सोशल मीडिया पर शुरू हुआ यह आंदोलन अब गावों में फैल रहा है.

किसान यूनियन द्वारा प्रदेश के सभी जिलों में शुरू किए गए इस आंदोलन में किसान सरकार को किसी प्रकार का सहयोग नहीं करेंगे. किसान किसी भी प्रकार के ऋण का भुगतान सरकार को नहीं करेंगे. आम किसान यूनियन ने हरदा जिले के गावो में नारे लिखकर प्रदेश सरकार को चेतावनी भी दी है

  • Share this:
मध्य प्रदेश के हरदा जिले में आम किसान यूनियन ने अनोखा आंदोलन शुरू किया है. असहयोग आंदोलन के नाम से पहले सोशल मीडिया पर शुरू हुआ यह आंदोलन अब गावों में फैल रहा है.

दरअसल, गावों की दीवारों पर सरकार से कर्ज माफ़ी नहीं तो वोट नहीं देने के नारे लिखे जा रहे हैं. आम किसान यूनियन के सदस्यों का कहना है कि उनकी मांग नहीं मानी तो किसान सरकार के खिलाफ आने वाले चुनाव में मतदान करेंगे.

किसान यूनियन द्वारा प्रदेश के सभी जिलों में शुरू किए गए इस आंदोलन में किसान सरकार को किसी प्रकार का सहयोग नहीं करेंगे. किसान किसी भी प्रकार के ऋण का भुगतान सरकार को नहीं करेंगे. आम किसान यूनियन ने हरदा जिले के गावो में नारे लिखकर प्रदेश सरकार को चेतावनी भी दी है.



आम किसान यूनियन के सदस्यों का कहना है की सरकार पहले उपज के उचित दाम दे, फिर वोट की बात होगी.
इस मामले में बीजेपी के जिलाध्यक्ष का कहना है की सरकार के खिलाफ विरोधियों की साजिश है और एमपी सरकार किसानों के हित में कार्य कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज