किसानों को पीओएस मशीन पर अंगूठा लगाकर मिलेगी खाद
Harda News in Hindi

किसानों को पीओएस मशीन पर अंगूठा लगाकर मिलेगी खाद
मशीन पर अंगूठा लगाने के बारे में बताता दुकानदार फोटो- ईटीवी

हरदा जिले में खाद की कालाबाजरी रोकने के लिए शासन ने नया प्रयोग किया गया है. अब खाद वितरण व्यवस्था को आधार कार्ड से जोड़ दिया गया है. इस योजना को डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर ) नाम दिया गया है.

  • Share this:
हरदा जिले में खाद की कालाबाजरी रोकने के लिए शासन ने नया प्रयोग किया गया है. अब खाद वितरण व्यवस्था को आधार कार्ड से जोड़ दिया गया है. इस योजना को डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर ) नाम दिया गया है.

योजना के अंतर्गत आधार कार्ड नंबर लोड कर पीओएस मशीन पर अंगूठे का निशान लेकर किसानोंं को खाद दी जा रही है. इस नई व्यवस्था से किसानोंं को खाद की किल्लत का सामना नहीं करना पड़ेगा.

जिले में खाद वितरण व्यवस्था को सुचारु रखने के लिए आधार कार्ड को इस व्यवस्था से जोड़ा गया है. पहले खाद का उपयोग खेती के अलावा उद्योगों में भी होने लगा था, जिसके कारण किसानोंं के बीच रबी और खरीफ सीजन में खाद का संकट बना रहता था. किसानों को सही समय पर खाद उपलब्ध कराने के लिए डीबीटी योजना शुरू की गई है.



इस योजना में किसान कहीं से भी आधार कार्ड के जरिए खाद ले सकेंगे. आधार नंबर और खाद की मात्रा पीओएस मशीन में लोड कर किसान का अंगूठा लगाया जाता है और मशीन में से बिल निकालकर किसान को दिया जाता है.
जिले की सभी खाद बीज विक्रय करने वाली दुकानों पर पीओएस मशीन लगाई गई है. इफ्को खाद के एरिया मैनेजर ने बताया कि सभी किसानोंं को आधार कार्ड के जरिए खाद दी जा रही है.

जिले के कृषि अधिकारी ने बताया कि अभी तक 80 पीओएस मशीन खाद विक्रय करने वाली दुकानों पर लगा दी गई है. आधार कार्ड होने से किसानों का खाद कोई अन्य व्यक्ति नहीं ले सकेगा.

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज