Home /News /madhya-pradesh /

MP में पहली बार एक दिन की नवजात बच्ची का बैंक खाता खुला, अस्पताल में ही हुआ नामकरण

MP में पहली बार एक दिन की नवजात बच्ची का बैंक खाता खुला, अस्पताल में ही हुआ नामकरण

कलेक्टर हरदा ने अपनी तरफ से इन बच्चियों के लिए 11 हजार रुपये दिये

कलेक्टर हरदा ने अपनी तरफ से इन बच्चियों के लिए 11 हजार रुपये दिये

Sukanya Samriddhi Yojna: हरदा में नवजात बच्चियों का बैंक खाता खोलने की शुरुआत खातेगांव तहसील की प्रसूता सलोनी पंवार की बेटी वेदांशी से की गई. पोस्ट ऑफिस बैंक में खाता खुलवाने के लिए जरूरी प्रक्रिया भी मौके पर ही पूरी की गई. वेदांशी के पिता मेडिकल स्टोर पर काम करते हैं.

अधिक पढ़ें ...
हरदा. हरदा जिले में बच्चियों को प्रोत्साहन देने के लिए खास पहल की जा रही है. यहां जन्म लेते ही प्रशासन बच्चियों के खाते खुलवा रहा है. मोदी सरकार (Modi Government) की सुकन्या समृद्धि योजना को बढ़ावा देने के लिए कलेक्टर ने अनोखी पहल की है. हरदा जिला अस्पताल में मात्र 24 घंटे उम्र की नवजात बालिका वेदांशी का पोस्ट ऑफिस बैंक में खाता खुलवाया गया. वेदांशी सुकन्या समृद्धि योजना की हितग्राही बनी. पूरे प्रदेश में यह अपनी तरह का पहला मामला है.

कलेक्टर संजय गुप्ता पूरे अमले के साथ जिला अस्पताल पहुंचे और पिछले तीन दिन में यहां पैदा हुई सभी बालिकाओं के खाते खुलवाए. वेदांशी की मां ने खुश होकर पीएम मोदी और कलेक्टर को थेंक यू कहा.

कलेक्टर ने खुलवाया खाता
बेटी बढ़ाओ बेटी पढ़ाओ सशक्त बनाने के अभियान में हरदा जिला आगे आ रहा है. केंद्र की मोदी सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में शामिल सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ देने के लिए जिला प्रशासन ने अनोखा प्रयास किया है. कलेक्टर जिला अस्पताल पहुंचे और इस योजना का लाभ देने के लिए नवजात बालिकाओं के बैंक खाते खुलवाए. इसकी शुरुआत खातेगांव तहसील की रहने वाली प्रसूता महिला सलोनी पंवार की बेटी वेदांशी से की गयी. पोस्ट ऑफिस बैंक में खाता खुलवाने के लिए जरूरी प्रक्रिया भी मौके पर ही पूरी की गयी. वेदांशी के पिता मेडिकल स्टोर पर काम करते हैं.

अस्पताल में नामकरण
वेदांशी का नामकरण भी मौके पर ही किया गया. साथ ही जिला अस्पताल में नयी व्यवस्था बनाते हुए योजना के फार्म भी रखवाए जा रहे हैं. बेटी का जन्म होते ही उसे इस योजना में हितग्राही बना दिया जाएगा. नन्ही वेदांशी की माँ सलोनी ने कहा की वह बेटी के जन्म से बेहद खुश हैं. हरदा जिले के कलेक्टर संजय गुप्ता ने इस योजना में भागीदारी करते हुए अपनी और से 11 हजार रूपये जरूरतमंद बेटियों के बैंक खाते खुलवाने के लिए दिए. कलेक्टर ने कहा कि पात्र बेटियों को इस योजना का लाभ मिले. बेटियों का लिंगानुपात बढ़े और वे सशक्त हों इसके लिए केंद्र सरकार ने 2015  में यह योजना शुरू की थी. इस योजना में कम से कम 250 रूपये से लेकर डेढ़ लाख रूपये तक खाते में जमा कर सकते हैं. जिस पर अभी पोस्ट ऑफिस और बैंक में 7.6%ब्याज दिया जाता है. 21 वर्ष बाद बेटियों को योजना के लाभ में अच्छा फायदा मिलेगा.

पीएम मोदी की सुकन्या समृद्धि योजना
केंद्र की इस महत्ववपूर्ण योजना के अंतर्गत हरदा जिले में 12 हजार से ज्यादा बालिकाओ को योजना का लाभ देकर हितग्राही बनाया गया है. 2015 में शुरू इस योजना का उद्देश्य बालिकाओं के उज्जवल भविष्य के लिए माता पिता की ओर से की गयी छोटी बचत है. एक परिवार की अधिकतम दो बेटियों को इसका लाभ मिल सकता है. इसका लाभ जन्म से लेकर 10 वर्ष तक उम्र की बालिकाओं को मिलेगा. 21 वर्ष बाद जमा की गयी राशि ब्याज सहित वापस होती है. जमा करने की क्षमता के आधार पर यह राशि लाखों रूपये में भी हो सकती है. 250 रूपये में पोस्ट ऑफिस बैंक में खाता खोला जा सकता है. योजना की पूरी राशि आयकर से बाहर होती है. 18 वर्ष की आयु के बाद 50 % राशि निकाली जा सकती है इस योजना के पीछे सरकार का मूल उद्देश्य समाज में बेटियों को आत्मनिर्भर बनाना है.

Tags: Bank account, Harda District Hospital, Harda news, Sukanya samriddhi scheme

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर