लाइव टीवी

मूंग खरीदी में फर्जीवाड़ा, बोये रकबे से 9 गुना ज्यादा किसानों का पंजीयन
Harda News in Hindi

Praveen Singh Tanwar | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 30, 2018, 10:11 AM IST
मूंग खरीदी में फर्जीवाड़ा, बोये रकबे से 9 गुना ज्यादा किसानों का पंजीयन
हरदा जिला कलेक्टर अनय द्विवेदी

गड़बड़ी को देखते हुए जिला कलेक्टर ने दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए हैं. न्यूज 18 ने 24 जून को मूंग खरीदी में हो रही गड़बड़ी की खबर दिखाई थी, जिसमें बोये हुए रकबे से 9 गुना ज्यादा पंजीयन होने का खुलासा किया गया था.

  • Share this:
प्रदेश के हरदा जिले में मूंग खरीदी शुरू होने से पहले ही सरकार को करोड़ों का नुकसान लगाने के बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है. जिले में मूंग पंजीयन की जांच के लिए जिला कलेक्टर खुद प्रशासनिक अमले के साथ गांवों में पहुंचे और किसानों से बोये हुए रकबे व उत्पादन की बात की.

प्रदेश में मूंग खरीददारी के लिए किसानों के किए जा रहे पंजीयन में गड़बड़ी की खबर के बाद हरदा जिला कलेक्टर अनय द्विवेदी मामले की जांच के लिए गांव-गांव धूम रहे हैं. न्यूज 18 ने मूंग खरीदी से पहले रहे पंजीयन में सरकार को करोड़ों रुपयों का चूना लगाने की खबर दिखाई थी, जिसके बाद प्रशासनिक अमला हरकत में आया है.

हरदा कलेक्टर अनय द्विवेदी ने खुद किसानों के घर जाकर मूंग उपज का भौतिक सत्यापन किया. मामले में गड़बड़ी को देखते हुए जिला कलेक्टर ने दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए हैं. न्यूज 18 ने 24 जून को मूंग खरीदी में हो रही गड़बड़ी की खबर दिखाई थी, जिसमें बोये हुए रकबे से 9 गुना ज्यादा पंजीयन होने का खुलासा किया गया था.

यह भी पढ़ें- मंदसौर रेप केस: पीड़ित परिवार से BJP विधायक बोले- सांसद जी को धन्यवाद कहिए



मध्यप्रदेश प्रशासन द्वारा समर्थन मूल्य पर की जाने वाले मूंग और उड़द की खरीदी शुरू होने से पहले ही किसानों के पंजीयन में फर्जीवाड़ा किया गया है. इस साल प्रदेश में कुल साढ़े चार हजार हेक्टेयर में मूंग की फसल बोयी गई थी, लेकिन बोये हुए रकबे से ज्यादा 33 हजार हेक्टेयर में मूंग बोने के पंजीयन होने के बाद प्रशासन हरकत में आया. मीडिया में मामला आने के बाद जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक पूरे प्रशासनिक अमले के साथ नीमगांव पहुंचे. गांव में कलेक्टर ने किसानों के पंजीयन के आधार पर उनकी उपज की जानकारी ली. जांच के दौरान गांव से करीब पांच सौ से ज्यादा किसानों के नाम फर्जी निकले हैं.

यह भी पढ़ें-  खाद्यान्न पर्ची ना मिलने के कारण आदिवासी गरीब राशन से वंचित

जिला कलेक्टर अनय ने पूरे मामले में दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई के आदेश दिए दिए हैं. पंजीयन के सत्यापन में लापरवाही करने कर नीमगांव के पटवारी राजीव जैन को निलंबित करने, पीपलघटा समिति के प्रबंधक पवन विश्नोई और ऑपरेटर कपिल विश्नोई की सेवा समाप्ति और पंचायत सचिव को निलंबित करने का आदेश जारी किए है. कलेक्टर ने कहा कि दो दिन में जांच कर सभी फर्जी किसानों के पंजीयन को निरस्त किया जाएगा.

यह भी पढ़ें-  ग्रामीणों ने राज्यपाल के सामने खोली विकास के दावों की पोल

यह भी पढ़ें-  बुरहानपुर की बेटी अश्विनी मेहता के 22 भाषा वाले भजन को मिला प्रथम स्थान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हरदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 30, 2018, 10:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,135,668

     
  • कुल केस

    1,577,445

    +59,485
  • ठीक हुए

    348,111

     
  • मृत्यु

    93,666

    +5,211
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर