मूक-बधिर पिता के बेटे की कामयाबी की कहानी आपको भावुक कर देगी
Harda News in Hindi

मूक-बधिर पिता के बेटे की कामयाबी की कहानी आपको भावुक कर देगी
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती, मेरिट सूची में आया हरदा का राहुल

मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित 12वीं के नतीजे शुक्रवार को घोषित हुए. राज्य के हरदा जिले के बेहद गरीब मजदूर परिवार से आने वाले राहुल ने गणित संकाय की सूची में 10वां स्थान हासिल किया.

  • Last Updated: May 12, 2017, 1:12 PM IST
  • Share this:
मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित 12वीं के नतीजे शुक्रवार को घोषित हुए. राज्य के हरदा जिले के बेहद गरीब मजदूर परिवार से आने वाले राहुल ने गणित संकाय की सूची में 10वां स्थान हासिल किया.

राहुल के मेरिट में आने की बात इसलिए भी मायने रखती है कि क्योंकि उसके पिता सुन और बोल नहीं सकते हैं. घर की माली हालत इतनी खराब हो चुकी थी कि उसकी पढ़ाई बीच में ही रुकने वाली थी. बुरे वक्त में मामा ने स्कूल में उसका एडमिशन कराया. स्कूल प्रबंधन ने भी उसकी काबिलियत देख उसकी फीस माफ की और आज राहुल सबका नाम रोशन कर रहा है.

हरदा जिले की सिराली तहसील के छोटे से गांव नहालीक्ला के रहने वाले गरीब मजदूर ओमप्रकाश का बेटा राहुल 12वीं के रिजल्ट के बाद पूरे गांव का लाड़ला बना हुआ है.



-गणित विषय में कक्षा 12वीं के छात्र राहुल ने 475 अंक लाकर गणित समूह में प्रदेश मेरिट लिस्ट में 10 स्थान पाया है.



-राहुल के पिता ओमप्रकाश ना तो सुन सकते और नहीं बोल सकते हैं.
-पिता मजदूरी कर किसी तरह परिवार का खर्चा चला रहे है.

राहुल और उसका परिवार उसकी इस उपलब्धि पर बेहद खुश है. सिविल इंजीनियर बनने का सपना आंखों में संजोए राहुल ने बताया कि उसकी सफलता माता-पिता, मामा और स्कूल प्रबंधन को समर्पित है.

पेट पालने के लिए पिता चलाते हैं छोटी सी दुकान, बेटा बना सबके लिए मिसाल

MP Board Result 2017: छोटे से दुकानदार का बेटा बना टॉपर, पढ़ें-भावुक करने वाली कहानी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading