छेड़छाड़ से परेशान छात्रा की आत्महत्या के बाद बिगड़े हालात, धारा 144 लागू

मध्य प्रदेश के हरदा शहर में छेड़छाड़ की वजह से छात्रा के सुसाइड के बाद हिंसा भड़क गई. पथराव और बाजार बंद कराने की घटनाओं के बाद हालात बेकाबू हो गए. स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है.

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 3, 2017, 4:40 PM IST
छेड़छाड़ से परेशान छात्रा की आत्महत्या के बाद बिगड़े हालात, धारा 144 लागू
मध्य प्रदेश के हरदा शहर में छेड़छाड़ की वजह से छात्रा के सुसाइड के बाद हिंसा भड़क गई. पथराव और बाजार बंद कराने की घटनाओं के बाद हालात बेकाबू हो गए. स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है.
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 3, 2017, 4:40 PM IST
मध्य प्रदेश के हरदा शहर में छेड़छाड़ की वजह से छात्रा के सुसाइड के बाद हिंसा भड़क गई. पथराव और बाजार बंद कराने की घटनाओं के बाद हालात बेकाबू हो गए. स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है.

दरअसल, हरदा के बायपास रोड पर रहने वाली 11वीं की छात्रा ने बुधवार शाम को अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी. परिजनों ने आरोप लगाया था कि कई बार शिकायत किए जाने के बावजूद पुलिस ने छात्रा से छेड़छाड़ करने वाले युवकों पर कार्रवाई नहीं की,  जिसके चलते छात्रा आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो गई.

परिजनों के बयान के आधार पर पुलिस ने सलमान और फारुख सहित 10 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया था. इस मामले में सभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने के विरोध में बड़ी संख्या में लोग विरोध दर्ज कराने के लिए शुक्रवार को पुलिस थाने पहुंचे थे.

वहीं, दूसरे पक्ष के लोगों का आरोप था कि पुलिस ने इस मामले में कुछ बेगुनाहों के खिलाफ केस दर्ज किया है. वह भी शुक्रवार दोपहर को विरोध दर्ज कराने के लिए पुलिस थाने की तरह जा रहे थे. पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो हालात बिगड़ गए.

पुलिस पर अचानक पथराव शुरू हो गया. इस दौरान कुछ लोगों ने बाजार बंद कराना शुरू कर दिए, जिसके बाद पूरे शहर में अफरातफरी का माहौल बन गया. हालाता बेकाबू होते देख कलेक्टर ने पूरे शहर में धारा 144 लागू कर दी.

एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने कहा है कि स्थित पूरी तरह से काबू में है. ऐहतियातन आसपास के जिलों से अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया जा रहा है.

क्या है पूरा मामला
Loading...

कोतवाली थाना क्षेत्र के खेड़ीपुरा क्षेत्र में रहने वाली छात्रा ने बुधवार को घर में फांसी लगाकर जान दे दी. गुस्साए लोगों ने गुरुवार की सुबह जमकर हंगामा किया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की.

परिजनों का आरोप है कि पहले पुलिस ने दो आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की थी, लेकिन उसके बाद उन्हें छोड़ दिया. इसके बाद भी आरोपियों ने उनकी बेटी से छेड़छाड़ बंद नहीं की. अगर पुलिस इन आरोपियों पर समय रहते सख्त कार्रवाई करती तो युवती आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठाती.

कोतवाली थाने के प्रभारी पंकज त्यागी ने गुरुवार को बताया कि पीड़ित छात्रा के परिजनों ने बीते वर्ष जुलाई में दो युवकों के खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद दोनों पर कार्रवाई की गई.

इसके बाद के घटनाक्रम में युवकों और युवती के परिजन एक दूसरे पर मारपीट व परेशान किए जाने के आरोप लगाते रहे और पुलिस की तरफ से उनके बीच सुलह कराने की कोशिश की गई. इसी बीच बुधवार को युवती ने खुदकुशी कर ली.

हरदा से प्रवीण सिंह तंवर की रिपोर्ट
First published: February 3, 2017, 4:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...