लाइव टीवी

हरदा में सेमीलूपर इल्ली के हमले से सोयाबीन की फसल पर संकट के बादल
Harda News in Hindi

Praveen Singh Tanwar | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 22, 2018, 4:52 PM IST
हरदा में सेमीलूपर इल्ली के हमले से सोयाबीन की फसल पर संकट के बादल
सोयाबीन की फसल

हरदा जिले में इस साल एक लाख पैंतालिस हेक्टेयर में सोयाबीन की बोयी गई थी. शुरूआती दौर में हुई बारिश से किसानों को अच्छे उत्पादन की उम्मीद थी, लेकिन अब किसानों की उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आ रहा है.

  • Share this:
हरदा जिले में बारिश नहीं होने के कारण पीला सोना कही जाने वाली सोयाबीन की फसल पर संकट दिखाई देने लगा है. बारिश नहीं होने से उमस के कारण सोयाबीन पर सेमीलूपर नामक इल्ली लगने से उत्पादन प्रभावित होने की आशंका बढ़ गई है. वहीं धूप नहीं निकलने से फसल पर कीटनाशको के छिड़काव भी बेअसर हो रहे हैं.

हरदा जिले में इस साल एक लाख पैंतालिस हेक्टेयर में सोयाबीन की बोयी गई थी. शुरूआती दौर में हुई बारिश से किसानों को अच्छे उत्पादन की उम्मीद थी, लेकिन अब किसानों की उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आ रहा है. पिछले 15 दिनों से मौसम में उमस होने और बारिश नहीं होने के कारण सोयाबीन की फसल पर बीमारियों का प्रकोप बढ़ गया है.

सेमीलूपर नामक छेदक इल्ली लगने से फसल प्रभावित हो रही है. इल्ली खेतों में लगी फसल के पत्तों को चट कर रही है, जिसके कारण फसल की बढोत्तरी प्रभावित हो रही है. किसान खेतों में कीटनाशको का छिड़काव भी कर रहे हैं, लेकिन धूप नहीं निकलने से कीटनाशकों को भी प्रभाव बेअसर दिखाई दे रहा है. किसानों का कहना है कि अगर फसल ठीक से नहीं होती है तो किसानों को भारी मात्रा में नुकसान उठाना पड़ेगा.

सोयाबीन की फसल को लेकर कृषि अधिकारियों का कहना है कि तेज बारिश होने से पत्तों पर लगी इल्ली खत्म हो जाएगी, लेकिन फिलहाल फसल में लगी इल्ली आर्थिक हानि नहीं है. उन्होंने कहा कि किसान इस मामले में विभाग के कार्यालय आकर भी कृषि विशेषज्ञों से सलाह ले सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हरदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 22, 2018, 4:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर