अपना शहर चुनें

States

महज डेढ़ महीने में सड़क का हुआ बुरा हाल, ग्रामीणों का गुस्सा चरम पर

खस्ताहाल सड़क
खस्ताहाल सड़क

हरदा जिले में पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा बनायी जा रही सड़कों का हाल लंबे समय से राज्य में चर्चा का विषय बना हुआ है. पलासनेर से नीमगांव तक बनी 4 किमी. सड़क निर्माण के 44 दिनों बाद ही उखड़ने से लोगों के धैर्य की परीक्षा ली जा रही है.

  • Share this:
हरदा जिले में पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा बनायी जा रही सड़कों का हाल लंबे समय से राज्य में चर्चा का विषय बना हुआ है. पलासनेर से नीमगांव तक बनी 4 किमी. सड़क निर्माण के 44 दिनों बाद ही उखड़ने से लोगों के धैर्य की परीक्षा ली जा रही है.

जानकारी के मुताबिक जिले के नीमगांव तक जाने वाली सड़क निर्माण के बाद कुछ ही दिनों में उखड़ने लगी जिससे लोगों का बाहर आना-जाना मुश्किल हो रहा है. ग्रामीणों का आरोप है की निर्माण कार्य में घटिया मटेरियल का इस्तेमाल करने से सड़क की यह हालत हुई है. इलाके के लोगों ने मामले में सड़क ठेकेदार की शिकायत उच्च स्तर पर करने की बात कही है.

वहीं दूसरी ओर पीडब्ल्यूडी विभाग निर्माण पूरा नहीं होने की बात कह कर पल्ला झाड़ रहा है. जानकारी के अनुसार सड़क का निर्माण पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा 1 करोड़ 15 लाख रुपये की लागत से कराया गया था.



लोगों ने विभागीय अधिकारी और ठेकेदार की मिलीभगत से घटिया निर्माण कार्य करने का आरोप ग्रामीणों ने लगाया है. बारिश के दिनों में सोनतलाई क्षेत्र के लगभग 70 गावों के आवागमन का सहारा यह सड़क भ्रष्टाचार की भेट चढ़ चुकी है. ग्रामीणों का आरोप है की इससे पहले भी निर्माण में इस प्रकार की लापरवाही बरती गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज