लाइव टीवी

दिवाली पर इस मंदिर में चढ़ाएं चने की दाल, मिटेंगे कर्ज
Harda News in Hindi

News18Hindi
Updated: October 18, 2017, 8:32 AM IST
दिवाली पर इस मंदिर में चढ़ाएं चने की दाल, मिटेंगे कर्ज
मध्य प्रदेश में यूं तो कई मंदिर हैं, जहां पूजा करने से मनोकामनाएं पूरी होती है. लेकिन यहां एक ऐसा मंदिर भी है जहां दिवाली के दिन सिर्फ चने की दाल चढ़ाने से कर्ज की परेशानी से छुटकारा मिल जाता है.

मध्य प्रदेश में यूं तो कई मंदिर हैं, जहां पूजा करने से मनोकामनाएं पूरी होती है. लेकिन यहां एक ऐसा मंदिर भी है जहां दिवाली के दिन सिर्फ चने की दाल चढ़ाने से कर्ज की परेशानी से छुटकारा मिल जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2017, 8:32 AM IST
  • Share this:
मध्य प्रदेश में यूं तो कई मंदिर हैं, जहां पूजा करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं लेकिन यहां एक ऐसा मंदिर भी है जहां दिवाली के दिन सिर्फ चने की दाल चढ़ाने से कर्ज की परेशानी से छुटकारा मिल जाता है.

हरदा के ऋणमुक्तेश्वर मंदिर अपने आप में खास है. मान्यता है कि यहां पर दिवाली के शुभ मौके पर जो भी चने की दाल चढ़ाता है, उसके कर्ज की परेशानी धीरे-धीरे अपने आप दूर हो जाती है.

इसी मान्यता के चलते दिवाली के अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु ऋणमुक्तेश्वर मंदिर पहुंच रहे हैं. उम्मीद की जा रही है कि हर साल की तरह इस साल भी हजारों की संख्या में श्रद्धालु मंदिर में दाल चढ़ाने के लिए पहुंचेंगे.



मां नर्मदा से मिलता धन, ऋणमुक्तेश्वर मंदिर दूर करता कर्ज



प्राचीन मान्यता के अनुसार दिवाली पर नर्मदा में स्नान करने से धन और वैभव की प्राप्ति होती है. स्नान के बाद श्रृद्धालु नर्मदा के तट पर स्थित हजारों साल पुराने ऋणमुक्तेश्वर मंदिर में दर्शन कर भगवान शिव को चने की दाल चढ़ाते हैं.

मंदिर के पुजारी ने बताया कि पुराणों के अनुसार दिवाली की अमावस्या पर इस मंदिर में चने की दाल चढ़ाने से हर प्रकार के ऋण से मुक्ति मिलती है और भगवान शंकर प्रसन्न होते हैं.

पूरे भारत वर्ष में यह एक मात्र मंदिर है जहा शिवजी को चने की दाल चढ़ाई जाती है. इस वजह से देशभर से लोग यहां पर नर्मदा में डुबकी लगाने और भगवान शिव को दाल चढ़ाने आते हैं.

हजारों श्रद्धालुओं मंदिर पहुंच नर्मदा में आस्था की डुबकी लगाते हैं. बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के पहुंचने की संभावनाओं के चलते सुरक्षा के भी चाक-चौबंद इंतजाम किए गए है.
First published: October 18, 2017, 8:02 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading