होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /महाकाल लोक के उत्सव में शामिल हुए ये कलाकार, कंकड़ से बनाए 12 ज्योतिर्लिंग

महाकाल लोक के उत्सव में शामिल हुए ये कलाकार, कंकड़ से बनाए 12 ज्योतिर्लिंग

हरदा जिले का कलाकारों ने देश के 12 ज्योतिर्लिंगों पर पत्थरों से महादेव की कलाकृतियां बनाईं. इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज किया गया.

हरदा जिले का कलाकारों ने देश के 12 ज्योतिर्लिंगों पर पत्थरों से महादेव की कलाकृतियां बनाईं. इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज किया गया.

Mahakal Lok. हरदा जिले के कलाकारों ने देश सभी बारह ज्योतिर्लिंगों पर जाकर भगवान महादेव की 8 बाय 8 स्क्वायर फीट के आकार ...अधिक पढ़ें

हरदा. उज्जैन में महाकाल लोक का लोकार्पण मंगलवार को किया गया. उत्सव के इस मौके पर हरदा जिले के कलाकारों ने देश के उन स्थानों पर जाकर कंकड़ों से शिव की आकृतियां उकेरीं जहां बारह ज्योतिर्लिंग स्थापित हैं. यह कलाकृतियां इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज की गई हैं. बीते 3 अक्टूबर को कलाकार हरदा जिले से देश के बारह ज्योतिर्लिंग स्थान पर पहुंचे थे. नदियों और मैदानों से कंकड़  इकट्ठा कर कलाकृतियां बनाई.

कलाकारों ने भगवान महादेव की 8 बाय 8 स्क्वायर फीट के आकार की कलाकृतियां बनाई हैं. इसमें महाकालेश्वर, केदारनाथ, ओंकारेश्वर, त्र्यंबकेश्वर, सोमनाथ, बैजनाथ, काशी विश्वनाथ सहित सभी बारह ज्योतिर्लिंग पर कलाकृतियां बनाई गई हैं. कलाकारों की टीम के एक सदस्य सतीश गुर्जर बताते हैं कि टीम के कलाकार 12 ज्योतिर्लिंगों पर जाने के लिए हरदा से अलग-अलग रवाना हुए थे. सभी स्थानों पर मंदिर समितियों ने सहयोग कर कलाकारों का सम्मान किया.

हरदा से गए हैं कलाकार
हरदा से गए कलाकारों में उत्तराखंड में मोहित गौर घृष्णेश्वर, महाराष्ट्र में रितिका पथोरिया, रुपाली गुर्जर, श्रद्धा विश्नोई और प्रीति शिकारी त्रंबकेश्वर में, महक अग्रवाल, माधवी गौर, राधिका राठौर और रानी शर्मा ओंकारेश्वर, यज्ञनी गुर्जर, अंकिता गुर्जर और साक्षी खंडेलवाल, संजना पाठक, राधिका रायखेरे और सुमन सैनी कलाकृतियां बनाने अलग अलग स्थानों पर गए थे.

पहले भी पोर्ट्रेट बना चुकी है टीम
इसके अलावा वैद्यनाथ धाम झारखंड में सचिन बामने, यश बुंदेला और विकास खुराना पहुंचे. रामेश्वरम तमिलनाडु में सूरज गोरे और हर्ष कुशवाहा. तेलंगाना के श्रीशैलम में गोविंद पाटील और अंकित अग्रवाल. सोमनाथ गुजरात में मीनाक्षी गौर और आराधना उदय, नागेश्वर गुजरात में दिशा पटेल और चिंतन पटेल. काशी विश्वनाथ उत्तर प्रदेश में संजय विश्वकर्मा,  भीमाशंकर महाराष्ट्र में रोहित इंगले, प्रज्वल, बब्बर भूषण बाविस्कर और अमर यादव ने महादेव की कलाकृतियां बनाई. सभी कलाकार 14 अक्टूबर को हरदा जिले वापस पहुंचेंगे. इससे पहले भी सतीश गुर्जर टीम ने अनाज से पीएम मोदी और स्वामी विवेकानंद की पोट्रेट बनाई है. जो विश्व कीर्तिमान के रूप में दर्ज की गई है और यह टीम नौवां का विश्व कीर्तिमान है.

Tags: Harda news, Madhya Pradesh News Updates, Mahakal, Ujjain news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें