हरदा जिले में सागौन के पेड़ों पर वायरस का प्रकोप, सूख रहे पत्‍ते
Harda News in Hindi

हरदा जिले में सागौन के पेड़ों पर वायरस का प्रकोप, सूख रहे पत्‍ते
हरदा जिले में सागौन के पेड़ और वायरस से प्रभावित पत्‍ता.

मध्‍यप्रदेश के हरदा जिले के वन क्षेत्र में सागौन के पेड़ों पर एस्करेडोनाइजर नाम का रोग लग रहा है. इस रोग के कारण पेड़ों के पत्ते सूख रहे हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मध्‍यप्रदेश के हरदा जिले के वन क्षेत्र में इन दिनों बेशकीमती सागौन के वृक्षों पर संकट छाया हुआ है. सागौन के पेड़ों पर एस्करेडोनाइजर नाम का रोग लग रहा है. हंडिया और मगरधा रेंज में रोग का प्रभाव पेड़ों पर पड़ रहा है. बारिश के मौसम में लगने वाले रोग के कारण पेड़ों के पत्ते सूख रहे हैं. इस रोग में लगने वाला वायरस पेड़ों के पत्तों के हरे भाग को नष्ट कर रहा है, जिससे पेड़ों की बढ़त पर असर पड़ रहा है.

जिले में लगभग 90 हजार हेक्टेयर में वन क्षेत्र फैला हुआ है. हरदा के वन क्षेत्र में लगे सागौन के पेड़ों की लकड़ी पूरे भारत में प्रसिद्ध है. सागौन की लकड़ी से होने वाली नीलामी में वन विभाग को खासा राजस्व मिलता है. हरदा के वन क्षेत्र में लगी सागौन की लकड़ी खरीदने के लिए गुजरात और मुंबई से बड़ी संख्या में व्यापारी हरदा आते हैं, लेकिन हरदा जिले के वन क्षेत्र में एक वाइरस का सागौन के पेड़ों पर प्रभाव पड़ रहा है. इससे पेड़ों की बढ़त पर असर पड़ेगा. परन्तु वन विभाग इस ओर से लापरवाह बना हुआ है.

वन क्षेत्रों में बसे गांवों के आदिवसि‍यों का कहना है कि विभाग ध्यान नहीं दे रहा है. सागौन के पेड़ों पर रोग लगने से नुकसान हो रहा है. वहीं दूसरी ओर वन विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि शासन इस रोग के निदान के लिए कोई फंड नहीं देता है. अधिकारियों का कहना है कि इस वायरस के प्रभाव से सागौन के वृक्षों पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा.
First published: September 5, 2018, 12:09 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading