vidhan sabha election 2017

एमपी में कर्ज से लगातार हारता किसान, फिर एक अन्नदाता ने खाया जहर

Shailendra Kaurav | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: December 7, 2017, 7:35 PM IST
एमपी में कर्ज से लगातार हारता किसान, फिर एक अन्नदाता ने खाया जहर
मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में कर्ज से परेशान होकर फिर एक किसान द्वारा आत्महत्या के प्रयास का मामला सामने आया है. फिलहाल किसान का इलाज होशंगाबाद के एक निजी अस्पताल में चल रहा है.
Shailendra Kaurav | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: December 7, 2017, 7:35 PM IST
मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में कर्ज से परेशान होकर फिर एक किसान के आत्महत्या के प्रयास का मामला सामने आया है. फिलहाल किसान का इलाज होशंगाबाद के एक निजी अस्पताल में चल रहा है.

दरअसल, मामला बाबई के शुक्करवाड़ा कला गांव का है. जहां भूमिहीन किसान शेर सिंह कर्ज से परेशान होकर कीटनाशक दवा पीकर जान देने की कोशिश की.

परिजनों ने बताया कि कर्ज नहीं चुका पाने और ऊपर से बैंक से मिले नोटिस से परेशान होकर किसान शेरसिंह ने कीटनाशक दवा पी ली.

किसान के बेटे बृजेश ने बताया कि उसका परिवार भूमिहीन है. गांव के ही एक व्यक्ति से 3 एकड़ जमीन किराये पर ली थी जिसमें बोई गई फसल खराब हो गई. इसी दौरान क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक से मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत लिए गए लोन का नोटिस मिला जिसमें कोर्ट में पेश न होने और राशि जमा न करने पर जेल भेजने की धमकी दी गई थी.

परिजनों ने बताया कि होशंगाबाद की फाइनेंस कंपनी से किसान शेर सिंह ने 40 हजार रुपये और पत्नी के नाम पर 30 हजार का लोन लिया है. इसके साथ ही इटारसी की माइक्रोफाइनांस कंपनी से भी 30 हजार का कर्ज था. इन दोनों कंपनियों से भी पैसा जमा कराने का दबाव किसान पर था जिसके चलते किसान ने यह कदम उठाया.

निजी अस्पताल में भर्ती किसान की हालत गंभीर बताई जा रही है. वहीं, पुलिस और प्रशासन के अफसरों का दावा है कि पूरे मामले की विस्तृत जांच की जाएगी और यदि कोई दोषी होगा तो उस पर सख्त कार्रवाई होगी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर