नर्मदा की नगरी में मकर संक्रांति की पारंपरिक धूम

होशंगाबाद में मकर संक्रांति का पर्व परंपरागत भक्ति भाव के साथ मनाया जा रहा है

Shailendra Kaurav | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 14, 2018, 12:08 PM IST
नर्मदा की नगरी में मकर संक्रांति की पारंपरिक धूम
होशंगाबाद में मकर संक्रांति का पर्व परंपरागत भक्ति भाव के साथ मनाया जा रहा है
Shailendra Kaurav | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 14, 2018, 12:08 PM IST
मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में मकर संक्रांति का पर्व परंपरागत भक्ति भाव के साथ मनाया जा रहा है. सूर्य देव के उत्तरायण में आने का पर्व मकर संक्रांति मां नर्मदा की नगरी होशंगाबाद में नर्मदा स्नान के लिए श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला अलसुबह से ही शुरू हो गया.

दरअसल, ज्योतिषों के मुताबिक मकर संक्रांति पर्व रात से शुरू होगा लेकिन सूर्योदय के साथ ही श्रद्धालुओं के नर्मदा घाटों पर आने का सिलसिला लगातार जारी है.

मान्यता है कि वर्ष भर में 12 संक्रांति आती है लेकिन मकर संक्रांति इनमें विशेष महत्व रखती है. सूर्य देव के उत्तरायण में आने के उपयक्षय में इस पर्व को मनाया जाता है और इस दिन से विवाह आदि मांगलिक कार्य शुरू हो जाते हैं.

इस दिन सूर्य धनु राशि से मकर और दक्षिणायन से उत्तरायण में आ जाते हैं संक्रांति पर्व पर पुण्य नदियों तीर्थ में स्नान दान से जाने अनजाने किए पापों से मुक्ति मिलती है. मकर संक्रांति पर्व सामाजिक सरोकारों का पर्व भी है.

इस दिन दान का विशेष महत्व होता है और सभी श्रद्धालु इस दिन अपनी क्षमतानुसार दान धर्म कर पुण्य लाभ कमाते हैं. संक्रांति पर तिल दान का विशेष महत्व होता है. नर्मदा घाटों पर परंपरागत रूप से दरिद्रनारायणों की भीड़ रही. श्रद्धालुओं ने मां नर्मदा के पुण्य जल में स्नान कर घाटों पर दान धर्म आदि धार्मिक कार्य किए.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर