VIDEO : सरताज सिंह भी बाग़ी हुए, बीजेपी छोड़ कांग्रेस का हाथ थामा

सुबह ख़बर आयी थी कि बीजेपी के असंतुष्ट वेटरन लीडर सरताज सिंह कांग्रेस में जाने की तैयारी में हैं. कांग्रेस के स्टेट मीडिया पैनलिस्ट राजेन्द्र ठाकुर ने जब होशंगाबाद आरओ कार्यालय से सरताज के लिए कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर नामांकन पत्र लिया, तो इन ख़बरों को बल मिला

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 8, 2018, 5:34 PM IST
Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 8, 2018, 5:34 PM IST
बीजेपी के वेटरन और असंतुष्ट नेता सरताज सिंह कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. वो कल होशंगाबाद सीट से कांग्रेस की ओर से पर्चा भरेंगे. कांग्रेस ने उन्हें होशंगाबाद से टिकट दे दिया है.  सरताज सिंह सिवनी मालवा सीट छोड़ रहे हैं. वो सुबह ही न्यूज़ 18 से बातचीत में कह चुके थे कि अगर बीजेपी से टिकट नहीं मिला तब भी चुनाव ज़रूर लड़ेंगे, लेकिन सिवनी मालवा से नहीं खड़े होंगे.

बीजेपी की आज जारी सूची में भी अपना नाम ना देखकर विधायक सरताज सिंह की आंखें छलछला उठीं थीं. सरताज सिंह ने न्यूज 18 से कहा था कि इस तरह घुट-घुटकर नहीं मरेंगे.  उन्होंने कहा था कि वो कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं.

सरताज सिंह सिवनी मालवा से टिकट के फिर दावेदार थे. लेकिन पार्टी ने उम्र के पैमाने के कारण उन्हें टिकट नहीं दिया. उनका मंत्री पद भी इसी वजह से गया था. टिकट की आशा में उन्होंने आज होशंगाबाद में एसबीआई में खाता भी खुलवा लिया था और कांग्रेस के राजेन्द्र ने उनके नाम से नामांकन पत्र भी ले लिया है. नामांकन पत्र दाख़िल करने की 9 नवंबर को आख़िरी तारीख़ है.

सुबह ख़बर आयी थी कि बीजेपी के असंतुष्ट वेटरन लीडर सरताज सिंह कांग्रेस में जाने की तैयारी में हैं. कांग्रेस के स्टेट मीडिया पैनलिस्ट राजेन्द्र ठाकुर ने जब होशंगाबाद आरओ कार्यालय से सरताज के लिए कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर  नामांकन पत्र लिया, तो इन ख़बरों को बल मिला. उससे पहले सरताज सिंह ने एसबीआई की मीनाक्षी शाखा में अपना खाता खुलवाया.

न्यूज 18 से बातचीत में सरताज सिंह ने कहा था कि कांग्रेस ने इटारसी और होशंगाबाद से टिकट का ऑफर दिया है. हालांकि सुबह सरताज सिंह ने  साफ कहा था कि वो चुनाव तो लड़ेंगे लेकिन सिवनी मालवा से अब खड़े नहीं होंगे. आख़िरी फैसला कार्यकर्ताओं से चर्चा के बाद ही किया जाएगा.  लेकिन अब बदलते हालातों के बीच सरताज सिंह भी अपना फैसला बदल सकते हैं. बीजेपी के इस वरिष्ठ नेता ने पार्टी के रुख़ पर निराशा जतायी और याद दिलाया कि हमने मुश्किल सीट पर पार्टी को जीत दिलाई थी.

ये भी पढ़ें -बेटे-बहू के आगे बेबस बीजेपी : कृष्णा-आकाश को मिला टिकट, सिवनी मालवा होल्ड
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर