सोशल मीडिया का कमाल...'चमत्कारिक पेड़' को छूने सतपुड़ा के जंगल में पहुंच रहे हैं लाखों लोग
Hoshangabad News in Hindi

सोशल मीडिया का कमाल...'चमत्कारिक पेड़' को छूने सतपुड़ा के जंगल में पहुंच रहे हैं लाखों लोग
जंगल में महुआ के पेड़ को छूने के लिए उमड़ रहे लाखों लोग

सतपुड़ा के जंगल में महुआ के 'चमत्कारिक पेड़' (miracle tree) को छूने के लिए लाखों लोग पहुंच रहे हैं. सोशल मीडिया (Social media) पर इस अफवाह के फैलने के बाद ऐसा हो रहा है कि इस पेड़ को छूने के बाद लोगों की बीमारियां जड़ से खत्म हो रही हैं.

  • Share this:
होशंगाबाद. सतपुड़ा के जंगल का एक रहस्यमय पेड़ (Mysterious tree) और अंधविश्वास के कारण वहां लग रहा मेला (Fair) चर्चा का विषय बना हुआ है. सोशल मीडिया पर एक मैसेज फैला कि पिपरिया के नजदीक नया गांव के जंगल में एक महुआ के पेड़ को छूने के बाद लोगों की बीमारियां जड़ से खत्म हो रही हैं. इसके बाद सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के बफर जोन में स्थित महुए के इस चमत्कारिक पेड़ (miracle tree) को छूने के लिए रोज हजारों लोग पहुंचने लगे. अब तो हालात ऐसे हैं कि पुलिस, जिला प्रशासन या फिर वन विभाग अंधविश्वास के कारण लग रहे इस मेले से सभी परेशान हैं. जंगल के कानून भी बेअसर हो गए हैं.

सोशल मीडिया से शुरू हुई महुआ के पेड़ की कहानी

महुआ के पेड़ की कहानी सोशल मीडिया से शुरू हुई और इसे आस्था कहा जाए या अंधविश्वास की इस धारणा ने बड़ा रूप ले ले लिया. लोगों के मुताबिक सोशल मीडिया पर यह महुआ का पेड़ काफी चमत्कारिक बताया गया. इस अफवाह के फैलने के बाद देश भर से लाखों की संख्या में परेशान लोग इस पेड़ के पास पहुंच रहे हैं. हालांकि, एक भी श्रद्धालु ऐसा नहीं मिला है जो महुआ के पेड़ को छूने के बाद  ठीक हुआ हो.



चमत्कारिक पेड़ के नाम से मशहूर 
जनचर्चा यह है कि इस पेड़ के पास हाथ रखकर बैठने से अपने आप हाथ पेड़ की तरफ खींचे चले जाते हैं और लोगों की बीमारियां ठीक हो जाती हैं. इस खबर के वायरल होने के बाद पिपरिया के नजदीक बसे एक छोटे से गांव कोड़ापड़रई से लगे जंगल का यह पेड़ 'चमत्कारिक पेड़' के नाम से मशहूर हो गया.
सोशल मीडिया पर फैली इस रहस्यमय पेड़ की कहानी ने इस स्थान को अंधविश्वास के मेले में तब्दील कर दिया.

जंगल में लग गया पॉलीथिन का अंबार 

पेड़ को छूने के लिए दूर-दूर से पहुंच रहे हैं लाखों लोग


सोशल मीडिया पर वायरल हुए मैसेज ने जंगल का नजारा ऐसे बदल डाला कि जंगल में पॉलीथिन का अंबार लग गया है और प्रतिबंधित वन क्षेत्र में हजारों की संख्या में लोग लगातार पहुंच रहे हैं. यह देखते हुए वन विभाग ने कुछ स्थानों पर ट्रेंच भी खुदवा दिए हैं, ताकि लोगों की आवाजाही पर लगाम लग सके. पुलिस महकमा भी इस मेले से परेशान है. वन क्षेत्र में बड़ी संख्या में लोगों के एक साथ आने के कारण व्यवस्था बढ़ाने में बनाने में पुलिस को भी खासी मेहनत करनी पड़ रही है.

 

ये भी पढ़ें- CM कमलनाथ की कवायद, भोपाल से दिल्ली की दूरी 45 मिनट में होगी तय!
अयोध्या मामला: आने वाले फैसले को लेकर MP पुलिस अलर्ट, तैनात किए 1 लाख जवान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज