डुप्लेक्स फ्लैट, आवासीय प्‍लॉट, दुकान, 25 एकड़ कृषि भूमि और जानें कितनी संपत्‍ति का माल‍िक है MP का यह प्राइमरी टीचर

मध्‍य प्रदेश के भोपाल लोकायुक्त पुलिस ने बैतूल के प्राथमिक शिक्षक पंकज श्रीवास्तव के यहां छापा मारा उनके पास आय से अधिक संपत्ति मिली है.

Madhya Pradesh News: आरोपी के पास कुल 24 संपत्तियों की जानकारी मिली है. इनमें मिनाल रेसीडेंसी में डुप्लेक्स, समरधा में प्लाट पिपलिया में एक एकड़ भूमि, छिंदवाड़ा में 6 एकड़ जमीन, बैतूल में 8 आवासीय प्‍लॉट, 6 दुकान बगडोना में व 10 अलग-अलग गांवों में कृषि भूमि कुल 25 एकड़ होना पाया गया है. कुल कीमत करीब 5 करोड़ रुपए की संपत्ति होने का पता चला है.

  • Share this:
मध्‍य प्रदेश के भोपाल लोकायुक्त पुलिस ने बैतूल के प्राथमिक शिक्षक पंकज श्रीवास्तव के यहां छापा मारा उनके पास आय से अधिक संपत्ति मिली है. घर में मिले दस्तावेजों के बाद पुलिस की आंखें फटी रह गईं.  वर्ष 1998 में संविदा शिक्षक से भर्ती हुए पंकज ने 23 साल में ही 5 करोड़ से अधिक की संपत्ति जमा कर ली, जबकि इस दौरान उन्हें वेतन से महज 36 लाख 50 हजार रुपए मिले.

बताया जा रहा है क‍ि उनके पास से बड़ी मात्रा में कृषि भूमि और आवासी प्‍लॉट की रजिस्ट्री मिली हैं. शाम 6 बजे तक करीब 11 घंटे कार्रवाई चली. इस दौरान टीम तीन सूटकेस में यहां से दस्तावेज भरकर ले गई इनमें प्रॉपटी, चेकबुक, पासबुक समेत कई दस्तावेज शामिल हैं. इनकी जांच की जाएगी. वे भोपाल के डी-413 मिनाल रेजीडेंसी में रहते हैं मंगलवार को एक टीम ने मिनाल और एमजीएम कॉलोनी बगडोना स्थित उनके निवास पर एक साथ छापा मारा लॉकर्स की जांच करवा रहे हैं.



आरोपी के पास कुल 24 संपत्तियों की जानकारी मिली है. इनमें मिनाल रेसीडेंसी में डुप्लेक्स, समरधा में प्लाट पिपलिया में एक एकड़ भूमि, छिंदवाड़ा में 6 एकड़ जमीन, बैतूल में 8 आवासीय प्‍लॉट, 6 दुकान बगडोना में व 10 अलग-अलग गांवों में कृषि भूमि कुल 25 एकड़ होना पाया गया है. कुल कीमत करीब 5 करोड़ रुपए की संपत्ति होने का पता चला है.

भोपाल पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में अपराध क्र 54/2021 धारा 13(1)(ब) 13(2),12 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत कायम कर रीक्षक सलिल शर्मा, मुकेश तिवारी, वी के सिंह की 10 सदस्यीय टीम कार्यवाही कर रही है. आरोपी के तीन संतान वर्ष 2016 से मैक्रो विज़न एकेडमी बुरहानपुर में अध्ययन कर रहे हैं. सर्च ऑपरेशन के दौरान अतिरिक्त जानकारी प्राप्त हुई है कि आरोपी पंकज श्रीवास्तव क्षेत्र के जरूरतमंद लोगों को ऊंची ब्‍याज दर पर कर्ज देकर उनकी संपत्ति को गिरवी रखकर कर्ज ना चुका पाने पर अपने नाम पर विक्रय पंजीकरण करा लेता था. आरोपी द्वारा अपने मित्र के साथ श्रीराम आईटीआई संस्था में भी निर्माण कार्य में लगभग 50 लाख रुपये का निवेश किया है तथा नागपुर में भी आवासीय प्लाट 10 लाख रुपये कीमत का होना पाया गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.