कभी पॉजिटिव तो कभी निगेटिव आई आईपीएस अधिकारी COVID-19 रिपोर्ट, 5 दिन तक रहेंगे क्‍वारेंटाइन

देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या आठ हजार के पार हो गई है.
देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या आठ हजार के पार हो गई है.

कोविड-19 (COVID-19) की स्‍क्रीनिंग रिपोर्ट में मध्‍य प्रदेश के इस आईपीएस (IPS) अधिकारी को कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) बताया गया था.

  • Share this:

दैनिक भास्‍कर में प्रकाशित खबर के अनुसार, इन्‍होंने अन्‍य कुछ अफसरों के साथ अपना भी कोविड-19 टेस्‍ट करा लिया. बुधवार को इस टेस्‍ट की रिपोर्ट आ गई. जिसमें इनके दोस्‍तों की रिपोर्ट तो निगेटिव आई, लेकिन इनको स्‍क्रीनिंग में पॉजिटिव बताया गया. अब एक आईपीएस अधिकारी के कोरोना पॉजिटिव होने की बात आग की तरह महकमें में फैल गई. इस बातत मध्‍य प्रदेश के आला अधिकारियों को भी पता चल गया. अपने वरिष्‍ठ अधिकारियों एवं मित्रों से सलाह करने के बाद इन्‍होंने शहर के बंसल हॉस्पिटल में भर्ती होने का फैसला किया. इस फैसले के कुछ ही मिनटों बाद एंबुलेंस पहुंच गई और वे एंबुलेंस में सवार होकर बंसल हॉस्पिटल पहुंच गए.

इसी बीच, इनको किसी अपने ने बसंल हॉस्पिटल की जगह चुरायु हॉस्पिटल में भर्ती होने की सलाह दे दी. इस सलाह को मानते हुए आईपीएस अधिकारी चिरायु हॉस्पिटल पहुंच गए. भर्ती होने से पहले वह डॉक्‍टर्स से बातचीत कर रही रहे थे, तभी उन्‍हें बताया कि उनकी फाइनल रिपोर्ट निगेटिव आई है. यह सुनकर उनकी जान में जान आई. उन्‍होंने तत्‍काल इस नई रिपोर्ट के बाबत अपने परिजनों और वरिष्‍ठ अधिकारियों को सूचित किया. पूरी तरह से निश्चिंत होने के बाद वे अपने घर में जाने की तैयारी कर रही रहे थे, तभी डॉक्‍टर्स ने कोरोना वायरस ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल का हवाला देते हुए उन्हें कोरेंटाइन की सलाह दे दी.

डॉक्‍टर्स ने यह भी कहा कि इस दौरान वे अपने घर भी नहीं जा सकते हैं. अंतत: आईपीएस अधिकारी को पांच दिनों की क्‍वारेंटाइन में भेज दिया गया है.



यह भी पढ़ें: 
लॉकडाउन: डाकिया अब चिट्ठी ही नहीं, फल-सब्‍जी और दवाएं भी पहुंचाएगा आपके घर
Lockdown: चेक पोस्‍ट पर 2 युवकों ने पुलिस कर्मियों पर थूका, आरोपियों को बचाने के लिए भीड़ ने किया पथराव
भाई-बहन की अचानक बिगड़ी तबियत, उल्‍टी के बाद तोड़ा दम, 19 लोग हुए क्‍वारेंटाइन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज