कोरोना की तीसरी लहर: इंदौर के इस सेंटर में बच्चों के लिए होंगे 300 बेड, जानिए क्या होगी व्यवस्था

इंदौर के राधास्वामी कोविड सेंटर में बच्चों के लिए खेल-कूद की व्यवस्था भी रहेगी.(सांकेतिक तस्वीर)

इंदौर के राधास्वामी कोविड सेंटर में बच्चों के लिए खेल-कूद की व्यवस्था भी रहेगी.(सांकेतिक तस्वीर)

Third Wave Of Corona: इंदौर में कोरोना वायरस से लड़ने की व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं. यहां बने राधास्वामी कोविड सेंटर में बच्चों के लिए भी अलग से व्यवस्था की गई है. बच्चों के लिए सेंटर में अलग से 300 बेड लगाए जाएंगे.

  • Share this:

इंदौर. मध्य प्रदेश के इंदौर में बने राधास्वामी कोविड सेंटर में बच्चों के लिए अलग से 300 बेड होंगे. यहां उनके माता-पिता में से कोई एक साथ भी रह सकेगा. सांसद शंकर लालवानी (MP Sankar Lalwani)ने इन व्यवस्थाओं को करने के निर्देश दिए. सांसद लालवानी और कलेक्टर मनीष सिंह (DM Manish Singh) सहित अन्य अधिकारी राधास्वामी कोविड सेंटर पहुंचे और आपस में बैठक की.

बता दें कि शहर में कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. इस लहर में बच्चों पर ज्यादा असर होने की आशंका है. इंदौर के साथ-साथ विभिन्न शहरों में इस तीसरी लहर को लेकर युद्धस्तर पर तैयारियां की जा रही हैं.

Youtube Video

धीरे-धीर अनलॉक की ओर बढ़ते कदम
दूसरी ओर मध्य प्रदेश में अनलॉक की शुरुआत होने जा रही है. प्रदेश के पांच जिले आज से धीरे-धीरे अनलॉक होंगे. कम कोरोना संक्रमण वाले जिले झाबुआ, अलीराजपुर खंडवा, बुरहानपुर और भिंड में कोरोना कर्फ़्यू में आज से ढील दी जा रही है. जिला क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी ने फैसला लिया. ये आदेश 24 से 31 मई तक के लिए जारी किए हैं. इन ज़िलों के अनुभवों के आधार पर एक जून से बाकी ज़िलों में प्रतिबंध कम करने या हटाने की रणनीति बनेगी.

5 राज्यों से बसों की आवाजाही पर 31 तक रोक

कोरोना की रफ्तार पर पूरी तरह से ब्रेक लगाने के लिए सरकार ने छत्तीसगढ़, राजस्थान, यूपी, और महाराष्ट्र से बसों और अन्य परिवहन सेवा पर रोक और बढ़ा दी है. ये रोक अब 31 मई तक रहेगी. इस संबंध में परिवहन विभाग ने आदेश भी जारी कर दिए हैं. परिवहन विभाग ने छत्तीसगढ़, राजस्थान, यूपी, और महाराष्ट्र से लगे सीमावर्ती जिलों के RTO को इस संबंध में आदेश दिए गए हैं. इसमें इन दोनों ही राज्यों से आने वाले यात्री वाहनों पर रोक लगाने के लिए कहा गया है. साथ ही मध्य प्रदेश से दोनों राज्यों में जाने वाले वाहनों पर भी रोक रहेगी.



पहले ये रोक 23 मई तक थी

पहले सरकार ने इन चारों राज्यों से बसों की आवाजाही पर 23 मई तक रोक लगायी थी। लेकिन हालात पूरी तरह से काबू में करने के लिए अब इस रोक को और आगे बढ़ा दिया गया है. छत्तीसगढ़, राजस्थान, यूपी, और महाराष्ट्र की परिवहन सेवाओं को बंद किया गया था. परिवहन विभाग ने 31 मई तक तमाम निर्देशों का पालन करने के लिए आरटीओ से कहा है. इस आदेश के बाद 31 मई तक यदि किसी तरीके की परिवहन सेवाएं अवैध रूप से संचालित होती हैं, तो उन बस ऑपरेटर्स के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाएगी. विशेष परिस्थितियों में शासन से अनुमति के बाद ही किसी तरीके का परिवहन संभव हो सकेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज