इंदौर में 50 लाख का सोना लेकर फरार हुए चोर, दुकानें बंद होते ही पहुंच गए चोरी करने

इंदौर के छोटा सराफा में बड़ी चोरी हो गई.

इंदौर के छोटा सराफा में बड़ी चोरी हो गई.

इंदौर के छोटा सराफा में चोरों ने चार दुकानों पर धावा बोलकर 50 लाख की कीमत के सोने के आभूषण उड़ा लिए. घटना थाने से महज 250 मीटर दूर की है. एक चोर बाकायदा सीसीटीवी कैमरे के सामने आया और उसकी दिशा मोड़ दी.

  • Last Updated: December 20, 2020, 7:45 AM IST
  • Share this:
इंदौर. प्रदेश की ज्वैलरी बनाने की सबसे बड़ी मंडी छोटा सराफा में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब चोर करीब 50 लाख का सोना लेकर फरार हो गए. कमाल की बात ये है कि वे ज्वैलरी की दुकानों में चोरी करने तब घुसे जब उनके संचालकों ने दुकाने बंद ही की थीं. घटना थाने से महज 250 मीटर की दूरी पर हुई है. एक चोरी सीसीटीवी में दिखा भी है, लेकिन उसकी पहचान नहीं हो पाई है. सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई.

खियालाल कॉम्लेक्स स्थित छोटा सराफा के तलघर में नुरूद्दीन, मोतिहार और राजेंद्र दास की दुकाने हैं. नुरूद्दीन की दो दुकानें हैं, जिनमें 8 कारीगर काम करते हैं. इन सभी कारीगरों के दराज से 1200 ग्राम सोना चोरी हो गया है. यह सोना तीन शोरूम संचालकों का है. मोतीहार की दुकान से बदमाश करीब 150 ग्राम सोना ले गए, जबकि राजेंद्र की दुकान से 50 ग्राम सोना चोरी हुआ.

दुकाने बंद होने के चंद मिनट बाद ही पहुंच गए चोरी करने

ये कॉम्पलेक्स चार मंजिला है और हर मंजिल पर करीब 20 दुकाने हैं. सवाल यह उठा कि जब रात 10.30 बजे चौकीदार ने हर तरफ ताले लगा दिए, तो चोर अंदर घुसे कैसे. इस बीच एक सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पता चला कि चोर दुकानें बंद होने के 5 मिनट बाद ही कॉम्पलेक्स में आ गए. जिस तरह चोरी हुई है उससे लगता है कि चोरों को यहां की पूरी जानकारी थी. उन्होंने दो दुकानों को छुआ तक नहीं.
गौरतलब है कि इंदौर का छोटा और बड़ा सराफा प्रदेश की ज्वैलरी बनाने की सबसे बड़ी मंडी हैं. यहां हजार से ज्यादा दुकानें और कारखाने हैं. ज्वैलरी डिजाइनिंग का काम बंगाल के कारीगर करते हैं. प्रदेश के ज्वैलरों के अलावा कई अन्य राज्यों से भी ज्वैलर यहां आते हैं. बता दें. यहां कई बार इस तरह से चोरी हो चुकी है. कई बार तो इन कारीगरों ने ही ज्वैलर्स को चूना लगाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज