इंदौर में हादसा : जर्जर दीवार ढहने से 1 मजदूर की मौत, कलेक्टर ने रद्द की निर्माण की परमिशन

पीड़ित परिवार को एक लाख की आर्थिक मदद का मंत्री तुलसी सिलावट ने वादा किया

Indore. कलेक्टर मनीष सिंह ने बिल्डर पर तत्काल प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिए. साथ ही भवन निर्माण की परमिशन भी रद्द कर दी.

  • Share this:
 इंदौर. इंदौर (Indore) में निर्माणाधीन बिल्डिंग के पास पुरानी दीवार ढहने से एक मजदूर (Labour) की मौत हो गयी. निर्माण कार्य में लापरवाही करने पर कलेक्टर ने बिल्डर पर केस दर्ज करने के दिए निर्देश हैं और निर्माण की अनुमति की निरस्त कर दी है.

ये हादसा इंदौर के तुकोगंज थाना इलाके का है. यहां स्थित एमजी रोड पर ज्वेलर्स शोरूम के पीछे निर्माण  कार्य चल रहा था. उसी दौरान वहां बनायी जा रही एक दीवार भरभरा कर गिरने लगी. मौके पर मौजूद सारे मज़दूर अपनी जान बचाकर भागे. उन्हीं मजदूरों के साथ पिंटू नाम का मजदूर भी था. सबको भागता देख पिंटू भी अपनी जान बचाने के लिए भागा. लेकिन पिंटू का पैर मोच गया और वो वहीं गिर पड़ा. उसके गिरते ही पूरी दीवार का मलबा उसरे ऊपर आ गिरा और वो वहीं दबा रह गया. पिंटू की मौके पर ही मौत हो गयी. वो 19 साल का था और खरगोन का रहने वाला था.

परिवार की सहायता का वादा
घटना की जानकारी मिलते ही तुकोगंज थाना पुलिस और निगम कर्मचारी वहां पहुंच गए. जेसीबी की मदद से मलबा हटाकर शव को बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए एमवाय हॉस्पिटल भिजवाया. मंत्री तुलसी सिलावट और कलेक्टर सहित तमाम प्रशासनिक अफसर भी मौके पर पहुंच गए. मंत्री सिलावट ने मौके पर मौजूद प्रशासनिक अफसरों को अविलम्ब मृतक के परिवार को एक लाख  रुपये की आर्थिक मदद देने का निर्देश दिया.

निर्माण की परमिशन रद्द-इंदौर में हादसा : शुरुआती जांच में अफसरों ने पाया कि लापरवाही के साथ बिल्डिंग निर्माण कार्य किया जा रहा  था. जिस जगह मृतक पिंटू काम कर रहा था वहीं पास में एक जर्जर दीवार थी. उसे पहले हटाया जाना चाहिए  था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया. लिहाजा कलेक्टर मनीष सिंह ने बिल्डर पर तत्काल प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिए. साथ ही भवन निर्माण की परमिशन भी रद्द कर दी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.