इंदौर में बुजुर्गों का वायरल Video देख दुखी हुए सोनू सूद, कहा- आइए मिलकर इनकी मदद करें

इंदौर का वीडियो देख सोनू सूद दुखी,कहा-हमें इनका ख्याल रखना है

इंदौर का वीडियो देख सोनू सूद दुखी,कहा-हमें इनका ख्याल रखना है

Indore Viral Video: सोनू सूद ने कहा- इंदौरवासी भाई बहनों से गुजारिश करूंगा कि मैंने कल एक खबर देखी. जहां बुजुर्गों को इंदौर शहर सीमा से बाहर रखने का प्रयत्न किया गया. मुझे और आप सबको मिलकर इन्हें छत देने की कोशिश करना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2021, 7:24 PM IST
  • Share this:
इंदौर: मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में नगर निगम की अमानवीयता पर एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) का दिल पसीज गया है. उन्होंने शहर के बेसहारा और बेघर बुजुर्गों की मदद करने का फैसला किया है. इसके लिए उन्होंने इंदौरवासियों से अपील की है कि वे उनका साथ दें. आपको बता दें कि इंदौर में कुछ बुजुर्ग भिखारियों को नगर निगम की गाड़ियों से उठाकर ले जाने का एक वीडियो वायरल (Indore Viral Video) हो रहा है, जिस पर बॉलीवुड एक्टर ने प्रतिक्रिया दी है.

सोनू सूद ने शुक्रवार को बुजुर्गों के साथ किया गया व्यवहार देखा और तुरंत एक वीडियो संदेश जारी किया. उन्होंने कहा- इंदौरवासी भाई बहनों से गुजारिश करूंगा कि मैंने कल एक खबर देखी. जहां बुजुर्गों को इंदौर शहर सीमा से बाहर रखने का प्रयत्न किया गया.  मुझे और आप सबको मिलकर इन्हें छत देने की कोशिश करना चाहिए. मैं बुजुर्गों को उनका हक दिलाना चाहता हूं और उनके सिर पर छत दिलाना चाहता हूं. उनके खाने-पीने का प्रबंध औऱ ध्यान रखने की कोशिश करना चाहता हूं लेकिन यह सब कुछ इंदौरवासियों के बिना मुश्किल है.

Youtube Video


माता-पिता को साथ रखने का संदेश दिया


सोनू सूद ने इंदौर की घटना का उदाहरण देते हुए बच्चों से गुजारिश कि है कि जो बच्चे माता-पिता को अलग छोड़ देते हैं उनके लिए एख सीख होना चाहिए कि आप अपने माता-पिता को हमेशा साथ रखें, उनका ध्यान रखें. तो आइये इंदौरवासियों के साथ एख ऐसा उदाहरण सेट करें ताकि बड़े बुजुर्ग कभी भी अकेला महसूस न करें. आईए पूरे देश के लिए उदाहरण पेश करें.

Youtube Video


ये है मामला





नगर निगम कर्मचारी शुक्रवार को शहर के वृद्ध भिखारियों को डंपर में मवेशियों की तरह भरकर लाए और इंदौर-देवास सीमा पर छोड़कर जाने लगे. इस दौरान वहां मौजूद लोग चौंक गए. उन्होंने विरोध करना शुरू कर दिया. इसके बाद नगर निगम कर्मचारियों को अपनी गलती का अहसास हुआ. शिप्रा नदी के किनारे जिन बुजुर्गों को छोड़ा गया उनमें से कुछ तो चलने की भी हालत में नहीं थे. गाड़ी में बुजुर्ग एक-दूसरे के ऊपर लदे हुए थे. वहां पर मौजूद लोगों ने जब ये हृदयविदारक नजारा देखा तो उनसे रहा नहीं गया. उन्होंने निगम कर्मचारियों को घेर लिया. ग्रामीणों का विरोध देख निगम कर्मचारियों ने लोगों की मदद से फिर से बुजुर्गों को उसी गाड़ी में बैठाना शुरू किया और वापस इंदौर ले आए. लेकिन इसका वीडियो वायरल होते ही लोगों ने इस कृत्य की निंदा करना शुरू कर दी.

सीएम शिवराज ने उपायुक्त को निलंबित किया



मामले ने तूल पकड़ा तो सीएम शिवराज सिंह ने नगर निगम के उपायुक्त प्रताप सोलंकी को निलंबित कर दिया और इंदौर से बाहर पदस्थ करने के निर्देश भी दिए. वहीं इससे पहले ननि कमिश्नर प्रतिभा पाल ने भी दो कर्मिचारियों रेन बसेरा के मस्टरकर्मी ब्रजेश लश्करी और विश्वास वाजपेयी को बर्खास्त कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज