Assembly Banner 2021

जिला अस्पताल परिसर में बने आवासों में कब्जा करे बैठे हैं प्रशासनिक अधिकारी

चिकित्सक के आवास पर कब्जा जमाए एसडीएम

चिकित्सक के आवास पर कब्जा जमाए एसडीएम

बुरहानपुर जिला अस्पताल परिसर में बने आवासों में कब्जा कर रह रहे प्रशासनिक अधिकारियों की मुश्किलें बढ़ सकती है.प्रशासनिक अधिकारियों के इन आवासों पर कब्जा करने के चलते महिला डॉक्टर व सिविल सर्जन सहित अन्य आपतकाल में पहुंचने वाले डॉक्टरों के अस्पताल में देरी से पहुंचने के चलते मरीजों को परेशानी हो रही है.

  • Share this:
बुरहानपुर जिला अस्पताल परिसर में बने आवासों में कब्जा कर रह रहे प्रशासनिक अधिकारियों की मुश्किलें बढ़ सकती है.प्रशासनिक अधिकारियों के इन आवासों पर कब्जा करने के चलते महिला डॉक्टर व सिविल सर्जन सहित अन्य आपतकाल में पहुंचने वाले डॉक्टरों के अस्पताल में देरी से पहुंचने के चलते मरीजों को परेशानी हो रही है.कांग्रेस ने इन आवासों को अविलंब खाली करवाने के लिए मोर्चा खोल दिया है. कांग्रेस का कहना है कि प्रशासन ने इसे हल्के में लिया तो कांग्रेस अस्पताल में तालाबंदी जैसे उग्र आंदोलन करने से भी गुरेज नहीं करेंगी.उधर अस्पताल प्रबंधन का कहना है तीन महीने के भीतर प्रशासनिक अधिकारियों के आवास निर्मित होते ही आवास खाली हो जाएंगे.

जिला अस्पताल परिसर में बने स्वास्थ्यकर्मियों व डॉक्टरों के लिए बने दो आवासों में एडीएम रोमानुस टोप्पो और डिप्टी कलेक्टर व बुरहानपुर एसडीएम प्रगति वर्मा निवास कर रहे हैं जबकि इतने बडे़ अस्पताल में आपात स्थिति में व्यवस्थाओं को संभालने वाले सिविल सर्जन डॉ. शकील खान अस्पताल से दो किलोमीटर दूर रहते हैं.अस्पताल में 24 घंटे प्रसूता महिलाएं आती रहती हैं और जिला अस्पताल में पदस्थ एकमात्र महिला रोग विशेषज्ञ डॉ.उमा वर्मा के भी अस्पताल परिसर में आवास नहीं होने से उन्हें दो किलोमीटर दूर से आना पड़ता है.इससे गंभीर मरीजों व प्रसूताओं को परेशानी झेलना पड़ती है. इस मसले को गंभीरता से लेते हुए जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी ने अस्पताल परिसर में बने आवासों पर प्रशासनिक अधिकारियों को अविलंब आवास खाली करवा कर डॉक्टरों विशेष सिविल सर्जन व महिला रोग विशेषज्ञ डॉक्टर उमा वर्मा को आवंटित करने की मांग की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज