‘हम ठीक नहीं कर पाएंगे आपका Corona,’ जानिए अस्पताल को कहां और क्यों लगाना पड़ा ये लाल बोर्ड

इंदौर के बड़े अस्पताल ने मरीजों को भर्ती करने से साफ-साफ मना कर दिया है.

इंदौर के बड़े अस्पताल ने मरीजों को भर्ती करने से साफ-साफ मना कर दिया है.

MP Corona News: इंदौर के सबसे बड़े अस्पतालों में से एक अरबिंदो अस्पताल. इस अस्पताल के प्रबंधन ने बाहर लाल बोर्ड लगाया है. बोर्ड पर लिखा है हमारे पास ऑक्सीजन और रेमडेसिविर दवाओं की कमी. आपकी भर्ती नहीं कर सकते.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 1:22 PM IST
  • Share this:
इंदौर. कोरोना ने अब हालात यहां तक ला दिए हैं कि अस्पतालों को बोर्ड लगाकर मरीजों को भर्ती किए जाने से मना किया जा रहा है. इंदौर शहर के बड़े अस्पतालों में से एक अरबिंदो अस्पताल (Aurobindo hospital) ने ऐसा ही एक बोर्ड बाहर लगा दिया है.

अरबिंदो ने अस्पताल के बाहर बोर्ड पर लिखा है- ‘जीवन रक्षक आपूर्तियों एवं ऑक्सीजन की तीव्र कमी के कारण सेम्स अस्पताल में मरीजों की भर्ती को अगले आदेश तक रोक दिया गया है. किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए आवश्यक कार्यवाही के रूप में यह कदम उठाया जा रहा है. असुविधा के लिए खेद है.’ गौरतलब है कि फिलहाल अरबिंदो में एक हजार से ऊपर मरीज भर्ती हैं. इनके इलाज के लिए रोज 18 MT ऑक्सीजन चाहिए, लेकिन सप्लाई केवल 12 MT की हो पा रही है.

24 घंटे में मिले 1781 नए कोरोना मरीज



गौरतलब है कि इंदौर में 24 घंटे में 1781 नए कोरोना मरीज मिले हैं. पिछले दो दिनों से मरीजों का आंकड़ा यही बना हुआ है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा देर रात जारी बुलेटिन के मुताबिक एक ही दिन में 10 लोगों की कोरोना से मौत हुई है. शहर में अब कुल मरीजों का आंकड़ा 96 हजार 330 हो चुका है. वहीं, मृतकों की संख्या 1079 हो गई. राहत की बात यह है कि एक ही दिन में 841 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे हैं.


प्रदेश की हालत खस्ता



गौरतलब है कि, रतलाम में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है. इसलिए वहां लॉकडाउन लगाया गया था. बता दें, प्रदेश भर में 21 अप्रैल को 13107 कोरोना के नए मामले सामने आए. इंदौर में 1781, भोपाल में 1709, जबलपुर में 789, ग्वालियर मे 1219 कोरोना पॉज़िटिव मरीज मिले. 75 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हुई. मध्‍य प्रदेश में 82268 एक्टिव मरीज़ों की संख्या हुई. राज्‍य में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच अच्छी खबर है. प्रदेश भर में 9035 मरीज़ स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हुए. इंदौर में 1024, भोपाल 1664, जबलपुर में 437, ग्वालियर में 502 मरीज़ स्वस्थ हुए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज